श्रीनगर: उत्तरी कश्मीर में कुपवाड़ा के घने जंगलों में करीब 48 घंटे से जारी मुठभेड़ बुधवार को खत्म हो गई. मुठभेड़ में सेना के तीन जवान तथा दो पुलिसकर्मियों सहित पांच सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए जबकि पांच आतंकवादी मारे गए।


घटना की जानकारी देते हुए एक पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि एक पुलिस दल द्वारा आतंकवादियों के एक समूह को रोके जाने के बाद नियंत्रण रेखा से करीब आठ किलोमीटर दूर हलमतपुरा क्षेत्र में मुठभेड़ हुई।

सुरक्षा बलों ने चलाया संयुक्त अभियान कुपवाड़ा पुलिस और सेना, प्रांतीय सेना और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने अभियान चलाया. मुठभेड़ ने नियंत्रण रेखा पर सेना की निगरानी में कमी को रेखांकित किया क्योंकि आतंकवादियों का समूह शामसाबरी पर्वतीय श्रंखला के दो रिज को पार करके करीब आठ किलोमीटर तक अंदर घुस आया।

अधिकारियों ने कहा कि नियंत्रण रेखा पार करने के बाद आतंकवादी घाटी में मौजूद अपने साथियों से मिले और उन्हें कुपवाड़ा की तरफ जाते वक्त पुलिसकर्मियों ने देख लिया. एक मस्जिद में छिपे आतंकवादियों ने जंगल की तरफ भागना शुरू कर दिया लेकिन सुरक्षा बलों ने मंगलवार को उनमें से चार को मार गिराया।

मुठभेड़ में पांच आतंकवादी मारे गए अधिकारियों ने कहा कि ऊंचाई पर जाकर छिपा एवं सुरक्षाबलों पर गोली चलाने वाला पांचवां आतंकवादी बुधवार शाम मारा गया।

पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि मुठभेड़ में पांच आतंकवादी मारे गए और माना जा रहा है कि सभी विदेशी आतंकवादी हैं और वे नियंत्रण रेखा में हाल में घुसपैठ करने वाले समूह में शामिल थे।

प्रवक्ता ने कहा कि दो पुलिसकर्मी दीपक थुसू और एसपीओ मोहम्मद यूसुफ तथा सेनाकर्मी सिपाही अशरफ राठर तथा नायक रंजीत खोलका शहीद हो गए। जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मुठभेड़ में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी है। 

विज्ञापनविज्ञापन के लिए संपर्क करें- 9079171692,7568170500

Join Whatsapp Group

नीमकाथाना न्यूज़

The Group Of Digital Neemkathana




- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।