नीमकाथाना न्यूज़ के लक्की में ड्रा भाग लें

News Update

नाहरगढ़ किले से लटके चेतन के शव का मामला पुलिस के लिए बनी पहेली

36 घंटे बीते...पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई पर पुलिस हत्या या आत्महत्या में उलझी

जयपुर- शुक्रवार की सुबह नाहरगढ़ के किले से पूरे शहर को झकझोर देने वाली चेतन सैनी की मौत की खबर पुलिस के लिए पहेली बनी है। बुर्ज की दीवार से लटके चेतन के शव को उतारे हुए 36 घंटे से बीत चुके हैं। और पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी आ चुकी है, मगर पुलिस तय नहीं कर पा रही है कि ये हत्या थी या आत्महत्या।
नाहरगढ़ किले से लटके चेतन के शव का मामला पुलिस के लिए बनी पहेली
source-google
डीसीपी नॉर्थ सत्येंद्र सिंह का दावा है कि हत्या को पुष्ट करने वाला कोई साक्ष्य नहीं मिला है, फिर भी पुलिस हर बिंदु की जांच कर रही है। अब पुलिस की आस एफएसएल रिपोर्ट पर टिकी है। जबकि शनिवार को मृतक चेतन की पत्नी नीतू ने ब्रह्मपुरी थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दी।
नाहरगढ़ किले से लटके चेतन के शव का मामला पुलिस के लिए बनी पहेली
source-google

यही नहीं, मुहाना मंडी फल-सब्जी के अध्यक्ष राहुल तंवर व अन्य पदाधिकारियों ने डीसीपी को ज्ञापन देकर हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच करने की मांग की। मगर, पुलिस ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। पुलिस ने चेतन के विसरा सैंपल और पत्थरों पर लिखावट के नमूने जांच के लिए एफएसएल को भेजे हैं।

दूसरी ओर, डीसीपी सत्येन्द्र सिंह ने बताया कि गुरुवार शाम 4 बजे चेतन के गधा पार्क एरिया बगरू वाला के रास्ते में चौथे चौराहे से माउंट रोड मीणा कॉलोनी होते हुए नाहरगढ़ पर जाने के फुटेज मिले है। चेतन किले पर अकेला जा रहा था और उसके हाथ में रस्सी भी नहीं थी।

नाहरगढ़ किले से लटके चेतन के शव का मामला पुलिस के लिए बनी पहेली
source-google
क्यों नहीं मिला पोस्टमार्टम रिपोर्ट से जवाब 

पोस्टमार्टम के लिए गठित मेडिकल बोर्ड ने माना है कि चेतन की मौत दम घुटने की वजह से हुई है। रिपोर्ट में ये भी स्पष्ट किया गया है कि फंदे पर लटकते समय चेतन जिंदा था। यानी किसी ने हत्या के बाद उसका शव नहीं लटकाया।

...जो अधूरा रह गया 

रिपोर्ट में ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि चेतन खुद फंदे पर लटका या उसे किसी ने जबरदस्ती लटकाया। उसके गाल व पैरों पर हल्की चोट के निशान थे जिस पर रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसी चोट फंदे पर लटकने के दौरान लग सकती है। मगर ये चोट किसी व्यक्ति से संघर्ष के दौरान भी लग सकती हैं।
header ads