रींगस: भगवा रक्षा दल सहित अनेक हिंदू संगठनों व सर्वसमाज के लोगों ने रविवार को फिल्म पद्मावती के विरोध में संजय लीला भंसाली के पुतले की शव यात्रा निकालकर जलाया गया।
भंसाली का पुतला जलाया, बोले-नहीं होने देंगे फिल्म का प्रदर्शन
कार्यक्रम के दौरान भगवा रक्षा दल जिलाध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा बींवाल ने कहा कि माता पद्मावती नेअपने स्वाभिमान व भारतीय संस्कृति की रक्षा के लिए 16 हजार रानियों के साथ जौहर किया था। ऐसा बलिदान देनेवाली सती पद्मावती पर भंसाली ने गलत चित्रण कर फिल्म बनाई है। इसे कतही बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

भारतीय इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर फिल्म बनाई है। इसे हिंदुस्तान कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। यदि फिल्म को प्रदर्शित किया गया तो जनभावनाएं आहत होगी। होने वाले उपद्रव में जान माल की भी हानि हो सकती है।

इससे पहले श्रीमाधोपुर विकास मंच संयोजक नरेंद्र सिंह महरोली ने कहा कि महारानी पद्मावती हिंदुस्तान और राजपूतों की शान है। इसेसंजय लीला भंसाली ने गलत चित्रण कर पेश किया है। इसका पुरजोर शब्दों में विरोध किया जाता है। इस फिल्म को रिलीज नहीं होने देंगे।

कार्यक्रम के दौरान मठ मंदिर के पास सेभंसाली की शवयात्रा रैली केरूप प्रारंभ की गई।जो मुख्य मार्गों सेहोती हुई नगर पालिका कार्यालय केसामनेपहुंची। वहां भंसाली के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया गया तथा पुतला जलाया गया।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।