Digital Neemkathana Android App Comming Soon...

News Update

नीमकाथाना सरकारी विभाग की लापरवाही, पीड़ित लगा रहे हैं अधिकारियों के चक्कर

नीमकाथाना: सरकारी विभाग की लापरवाही के चलते बुजुर्गाें की पेंशन अपात्र लोगों के खाते में जमा हो रही है। मामले में बड़ी गड़बड़ी का अंदेशा है। क्योंकि कई बुजुर्गाें की पेंशन ग्राम पंचायत व सरपंच परिवार के खातों में डाली गई है।

जिम्मेदार अधिकारी ई-मित्र संचालकों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। मामले पर न्यूज़ मीडिया की पड़ताल हुई तो कई खुलासे हुए।

बुजुर्गों की पेंशन दूसरों के खातों में, डेहरा जोहड़ी सरपंच परिवार के 3 खातों में जमा हुए 25 हजार

दरअसल मामला वृद्धावस्था पेंशन योजना से जुड़ा है। यहां करीब 14 हजार लोगों को यह पेंशन मिलती है, लेकिन पिछले कई महीनों से सैकड़ों लोग पेंशन से वंचित हैं। पीड़ित बुजुर्ग विभागों के चक्कर लगा रहे हैं। इसके बावजूद जिम्मेदार मामले की अनदेखी कर रहे हैं। बुजुर्गाें की पेंशन का मामला कई बार पंचायत समिति की बैठक में भी उठा।

नृसिंहपुरी सरपंच गोपाल सैनी के अनुसार उनकी ग्राम पंचायत में ही करीब 150 से लोगों की पेंशन बंद हुई थी। एसडीएम जेपी गौड़ ने संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए। कई खाते अब भी दुरुस्त नहीं हुए।

तीन उदाहरणों से समझिए, बुजुर्गों को कितनी परेशानी झेलनी पड़ रही है 

झुंझुनूं जिले केअपात्र लोगों के खाते में डाल रहे मूली देवी की पेंशन

बुजुर्गाें की पेंशन दूसरे जिले केअपात्र लोगों के खातों में भी डाली गई है। नृसिंहपुरी सती मोड़ की रहने वाली मूलीदेवी की पेंशन 16 महीनों से मंडावरा निवासी सुरेंद्रसिंह राठौड़ के खाते में जा रही है। मामले में विभाग को अवगत कराने के बाद भी खाता दुरुस्त नहीं हुआ।

डेहरा जोहड़ी सरपंच परिवार केखातों में जमा हुई तीन लोगों की पेंशन

डेहरा जोहड़ी निवासी भगवानाराम को पेंशन के750 रुपए 14 महीने से नहीं मिले। उसकी पेंशन डेहरा जोहड़ी सरपंच परिवार की सुंदरी देवी के खाते में जमा हो रही है। इसी तरह रुकमणी को 500 रुपए मासिक पेंशन मिलती थी। वह राशि करीब छह हजार रुपए भी सरपंच परिवार की मनोहरी केखाते में जमा हुई। नृसिंहपुरी निवासी नरपतसिंह की पेंशन भी 12 महीने डेहरा जोहड़ी सरपंच के परिवार के ही किसी व्यक्ति के खाते में जमा हुई। हालांकि शिकायत केबाद सरपंच ने पेंशन लौटा दी।

गुहाला ग्राम पंचायत केखातेमें वृद्धा की पेंशन

तिवाड़ी का बास तन नृसिंहपुरी की सरती देवी की पेंशन गुहाला ग्राम पंचायत के खाते में जमा हो रही है। उसे 500 रुपए महीने के मिलते थे। वह खाता दुरुस्त करवाने गुहाला सरपंच व पंचायत समिति के चक्कर लगा रही है, लेकिन उसे पेंशन नहीं मिल रही।

अधिकारियो का इस मामले पर व्यू

गुहाला ग्राम पंचायत मेंसरती की पेंशन आ रही है। मामलेमें विभाग को लिखित में दिया है। आदेश जारी होने पर वृद्धा की पेंशन लौटा दी जाएगी। - कांता शर्मा, सरपंच गुहाला, (नीमकाथाना) 

विभाग की लापरवाही से पेंशन निजी खातों मेंआई है। सरकार रिकवरी करेगी तो रिफंड करवा देंगे। - सजना देवी, सरपंच, डेहरा जोहड़ी  

बीडीओ सुमेरसिंह बोले-आॅनलाइन प्रक्रिया केदाैरान हुई गड़बड़

➧ गड़बड़ी वाले खाते दुरुस्त कब तक हो जाएंगे?
अधिकांश खाते दुरुस्त किए हैं। शेष भी जल्द दुरुस्त कराने का प्रयास किया जा रहा है।

➧ बुजुर्गाें की पेंशन अपात्र लोगों को मिल रहीहै?
हां, खातों में गड़बड़ी हुई, जिसेदुरुस्त किया जा रहा है

➧ डेहरा जोहड़ी सरपंच परिवार के खातो में कैसे जमा हो गई पेंशन की राशि?
ये मामला सामनेआया था। एक बुजुर्ग की पेंशन का भुगतान सरपंच से करवाया है। अन्य भी वसूली करेंगे।

➧ बड़ी लापरवाही के लिए जिम्मेदार कौन?
ऑनलाइन प्रक्रिया केदौरान गड़बड़ी हुई है। ज्यादा गड़बड़ी ई-मित्रों पर फीडिंग से हुई है।

Source- Neem Ka Thana Bhaskar

No comments