विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें- +91-9079171692, +91-9680820300

News Update

अमरनाथ हमला: मिडिया का हीरो और हिंदुओं का रखवाला ड्राईवर सलीम शक के घेरे में।

अमरनाथ यात्रियों के उपर 10 जुलाई को रात में लगभग 8 बजे हुए आतंकवादी हमलें मे लगभग 20 लोग घायल और 7 लोगो की मौत हो गयी थी। यात्रियों में सभी लोग गुजरात के रहने वाले थे। मीडिया में कहा जा रहा है कि ड्राइवर ने अपनी सूझबूझ से बाकी सभी यात्रिओं की जान बचाई। ड्राइवर ने दिमाग से काम नहीं लिया होता तो मरने वालो की संख्या 7 नहीं बल्कि ज्यादा होती। मरने वालें यात्रिओं के साथ सभी घायलों को वायुसेना के विशेष विमान से सूरत पहुँचाया गया जहां इन सबको रिसीव करने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री समेत कई हस्तियाँ एअरपोर्ट पर मौजूद थी।

अमरनाथ हमला: मिडिया का हीरो और हिंदुओं का रखवाला ड्राईवर सलीम शक के घेरे में।
source- google images


यहां हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जिस बस पर हमला हुआ उस बस के ड्राइवर सलीम ने ही बाकी यात्रियों कि जान बचाइ थी।  जिसको मीडिया और लोगो ने आपके सामने किसी हीरो की तरह पेश किया और सरकार ने बिना कुछ सोचे समझे इनाम देने की घोषणा भी कर दी , लेकिन अब बस के कंडक्टर ने इस मामले पर एक नया दावा किया है कि लोगो की जान ड्राइवर की वजह से नहीं बची। जिसके बाद एक इस मामले में रोज एक नई कड़ी खुलती जा रही है।

दरअसल जम्मू कश्मीर पुलिस ने इस आतंकवादी हमले की मामले में एक अहम गिरफ्तारी की है जिसके तार सीधे आतंकवादियों से जुड़े होने का शक है। सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार किया गया आदमी जम्मू कश्मीर के सत्ताधारी पार्टी पी.डी.पी के विधायक विधायक एजाज अहमद का ड्राइवर है। जिसका नाम तौसिफ अहमद है। तौसिफ पुलवामा का रहने वाला है। पुलिस को उस पर आतंकवादियों के साथ सम्बन्ध रखनें का शक है।

बस के कंडक्टर द्वारा इस बात का दावा करने के बाद कि यात्रियों की जान सलीम ने नहीं बचाई, पुलिस के शक की सुई सलीम की तरफ घूमी। पुलिस का मानना है कि अमरनाथ बस ड्राइवर सलीम को अमरनाथ यात्रा के नियमो का पता होने के बावजूद भी उसने रात को सभी नियमो का उलंघन करते हुए बस को हाईवे पर ले गया। इस पर वह भी अब पुलिस के संधिग्द घेरे में आचुका है। इस हवाले से पुलिस अब सलीम  से पूछताछ कर रही है। जैसे जैसे जाँच आगे बढ़ेगी राज और भी खुलते जायँगे।