कश्मीर: घाटी के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों को आतंकियों के खिलाफ एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सुरक्षाबलों के साथ हाकरीपोरा गांव में मुठभेड़ में लश्कर कमांडर अबु दुजाना को सेना ने मार गिराया है। दुजाना के साथ का एक स्थानीय आतंकी आरिफ ललहारी को भी सेना ने ढेर किया है। सुरक्षाबलों ने पहले उस घर को आग लगाई जिसमें छिपे थे। बाद में सेना ने घेराबंदी करके अबु दुजाना को 72 हूरो के पास पहुंचाया।

अबू दुजाना पंहुचा 72 हूरों के पास, सेना ने मुडभेंड़ के दौरान मार गिराया।
source- google images

अबु दुजाना लश्कर का टॉप कमांडर था।  हर बार की तरह इस बार भी पत्थरबाजों की भीड़ ने दुजाना को बचाने पथरबाजी की लेकिन जवानों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी। जिसके बाद सारे के सारे पत्थरबाज भाग उठे। दुजाना का मारने के लिए पिछले कई महीनों से सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन चलाए ।

दुजाना पर सुरक्षाबलों ने 10 लाख का इनाम घोषित कर रखा था। सीआरपीएफ की 183 बटालियन, 182 बटालियन, 55 राष्ट्रीय राइफल और एसओजी की टीम ने पुलवामा के हाकरीपोरा गांव में तड़के साढ़े चार बजे से ही घेरा डाल लिया था।

इलाके की पूरी तरह घेराबंदी के बाद सर्च अभियान शुरू किया गया। सुरक्षाबलों को इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की खबर मिली थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने हाकरीपोरा में घेरा डालकर दुजाना को ढेर किया। इससे पहले मई महीने में भी सुरक्षाबलों ने घाटी के हकरीपोरा गांव में ही दुजाना की घेराबंदी की थी। लेकिन तब दुजाना चकमा देकर भाग गया था।

बता दें कि सेना कश्मीर से आतंकियों का सफाया करने के लिए 'ऑपरेशन ऑलआउट' अभियान चला रखा है।  इसके तहत सभी आतंकियों की एक लिस्ट तैयार की गई और इसी के आधार पर अलग-अलग इलाकों में आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन से उनका खात्मा किया जा रहा है।

अब तक इस ऑपरेशन के तहत तक़रीबन 100 आतंकियों को घाटी में ढेर किया जा चुका है। दो दिन पहले ही पुलवामा के तहाब इलाके में सुरक्षाबलों के द्वारा ऑपरेशन में हिज्बुल के दो आतंकी मारे गए थे।