Update Your App Now

News Update

जानियें, आखिर घर में क्यों नहीं रखना चाहिए शिवलिंग

हिंदू धर्म में मूूर्ति पूजा का प्रचलन होने के कारण हर घर में पूजा पाठ का एक निश्चित स्थान होता है। हिंदू धर्म शिवलिंग की पूजा की जाती है। शिवलिंग की पूजा करने से रोग, दरिद्रता का विनाश होता है। हर हिन्दू घर में देवी देवताओं की तस्वीरे होती है। लेकिन यह बताया जाता है कि घर में शिवलिंग की स्थापना कभी नहीं करनी चाहिए। जानिये आखिर क्यों-

जानियें, आखिर घर में क्यों नहीं रखना चाहिए शिवलिंग
                                                                     source- google images

प्रत्येक घर में साधारण पूजा कक्ष होता है। लेकिन इसके भी विधि नियम है।  घर में मूर्तियों की लंबाई 4 इंच से अधिक नहीं होनी चाहिए। इससे लंबी मूर्तियों के लिये विधिवत प्राण प्रतिष्ठा का विधान है जो कि मंदिरों में ही संभव है। चूंकि भगवान शिव के शरीर में अपार गर्म ऊर्जा का भंडार है इसलिये उनका निवास स्थान हिमालय है। जो कि सबसे अधिक ठण्डा स्थान है।

जानियें, आखिर घर में क्यों नहीं रखना चाहिए शिवलिंग
                                                                source- google images

शिवलिंग भगवान शंकर का एक अभिन्न अंग है, जो अति गर्म माना गया है। इस कारण शिवलिंग पर जल चढ़ाने की प्रथा प्रचलित है। मन्दिरों में शिवलिंग के उपर एक घड़ा रखा होता है जिसमें से पानी की एक-2 बूंद शिवलिंग पर गिरा करती है, जिससे शिवलिंग की गर्मी धीरे-धीरे शान्त होकर उसमें से सकारात्मतक उर्जा प्रवाहित होने लगती है। जो भक्तगणों के कष्टों को दूर करती है।

जानियें, आखिर घर में क्यों नहीं रखना चाहिए शिवलिंग
                                                                        source- google images

घर पर शिवलिंग रखने से इस प्रकार की व्यवस्था न हो पाने के कारण उसमें से निकलने वाली गर्म उर्जा परिवार के लोगों को नुकसान पहुंचाती है। जैसे- सिर दर्द, स्त्री रोग, जोडो में दर्द, मन अशान्त, घरेलू झगड़े, आर्थिक अस्थिरिता आदि प्रकार की समस्यायें घर में बनी रहती है।

यदि आपके घर में शिवलिंग रखा है, तो किसी शुभ मुहूर्त में निकट के मन्दिर में दान करें, उसके बाद में उसी शिवलिंग पर रूद्राभिषेक करायें एंव पुजारी को यथा शक्ति दान व दक्षिणा दें।
header ads