गुहाला अस्पताल के तीसरा गेट निकालने का विरोध

नीमकाथाना: राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गुहाला के तीसरे गेट निकालने के विरोध तथा सरकारी भूमि का दुरुपयोग रोकने को लेकर ग्रामीणों ने एसडीएम व एडीएम को ज्ञापन सौंपा। डेहरा जोहड़ी पूर्व सरपंच प्रतिनिधि श्रीराम सैनी, नृहसिंहपुरी पूर्व सरपंच गोपाल सैनी ने बताया कि सीएचसी गुहाला की स्थापना से दो गेट बने हुए हैं जो वाहन आगमन में भी सही है, लेकिन लेकिन विगत 10 से 15 वर्षो से कुछ भूमाफिया प्रवृत्ति के लोग सीएचसी के उतरी दिशा में गेट निकालने की कोशिश कर रहे हैं। भूमाफिया लोगों की दुकानें जो विवादित भूमि में हैं, जो राजस्व अभिलेख में दर्ज है।

 कुछ लोगों के वाणिज्यिक कॉम्पलेक्स निर्माणधीन हैं, तथा अपनी निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए सार्वजनिक पेशाब घर अस्पताल के उतरी दिशा में स्थित था जिसको षड्यंत्र पूर्वक तुड़वा दिया गया। जिसका राजस्व रिकार्ड गुहाला ग्राम पंचायत में मौजूद है। 

अस्पताल परिसर में सार्वजनिक नलकूप को खुर्दबुर्द किया गया है, जो की तीसरे गेट के खुलने में बाधा उत्तपन्न कर रहा था। समय समय पर जिम्मेदार लोक सेवकों को  यथा स्थिति से अवगत कराया जा चुका है, तथा समय समय पर ग्रामवासियों द्वारा इस विषय के बारे में विरोध दर्ज करवाया जा चुका है। 

सीएचसी गुहाला के एक सार्वजनिक कार्यक्रम में तत्कालीन चिकत्सा मंत्री बंशीधर बाजिया को ग्रामवासियों का भारी विरोध का सामना करना पड़ा था। अन्त में ज्ञापन ने लिखा गया है। इस दौरान श्रीराम सैनी पूर्व सरपंच डेहरा जोहड़ी, रवि चौहान, गजेंद्र कनवा, महेंद्र, निखिल, शोएब कुरेशी, छीतर मल आदि लोग मौजूद रहे।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन…