हवलदार सूबे सिंह यादव को नम आंखों से दी विदाई, राजकीय सम्मान से हुआ अंतिम संस्कार, तिरंगा यात्रा निकाली







पाटन(बबलू सिंह यादव) असम राइफल्स में हवलदार के पद पर तैनात पाटन बेगा की नांगल के सूबेसिंह यादव दीमापुर में ड्यूटी के दौरान शहीद हो गए। दीमापुर हेड क्वाटर से अधिकारी ने सूबे सिंह की मौत का समाचार दिया। सूबे सिंह यादव की मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया।शहीद के बेटे,बेटी रुचिता व मां का रो रोकर बुरा हाल हो गया।लोग परिजनों के घर सांत्वना देने पहुंचे।

नीम का थाना में रहते थे यादव 
बेगा की नांगल के हवलदार सूबेसिंह यादव असम राइफल्स में तैनात थे।उनकी ड्यूटी दीमापुर थी। वे मूल निवासी बेगा की नांगल के थे।उन्होंने 15 साल पहले ही नीम का थाना में अंतरिक्ष होटल के पीछे अपना मकान बनवा तैयार करवाया था। वर्तमान समय में वे नीम का थाना ही रह रहे थे।
पाटन बाई पास से निकली तिंरगा यात्रा
शहीद हवलदार सूबे सिंह की पार्थिक देह पाटन लाई गई।पाटन बाई पास से तिरंगा यात्रा निकाली गई।देश भक्ति गीतों पर युवाओं ने वंदे मातरम व भारत माता की जय,जब तक सूरज चांद रहेगा सूबे सिंह तेरा नाम रहेगा के नारों का जय घोष किया।तिरंगा यात्रा शहीद के पैतृक निवास तक निकाली गई।अंतिम दर्शन के लिए पार्थिक देह नीम का थाना उनके निवास स्थान पर लाई गई।
राजकीय सम्मान से गांव में हुआ अंतिम संस्कार
शहीद सूबे सिंह यादव की पार्थिक देह का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ बेगा की नांगल में ही किया गया।इस दौरान शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए लोगो की काफी संख्या में भीड़ जुटी। शहीद के पत्नी सुमन देवी सहित एक लड़का व एक लड़की रुचीता हैं।बेटी रुचिता ने पापा को अंतिम विदाई देते हुए भावुक हो गईं।
श्रद्धांजलि देने पहुंचे जनप्रतिनिधि
निवास स्थान नीम का थाना शहीद की पार्थिक देह अंतिम संस्कार के लिए लाई गई।पूर्व विधायक रमेश खंडेलवाल,पूर्व महिला कांग्रेस महासचिव मंजू सैनी,आप नेता महेंद्र मांडिया सहित अन्य राजनीतिक जन प्रतिनिधियों ने शहीद की पार्थिक देह पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। दूसरी ओर शहीद के पैतृक गांव में स्थानीय विधायक सुरेश मोदी, नीमकाथाना प्रधान प्रतिनिधि विरेन्द्र यादव, एसडीएम बृजेश कुमार, पाटन एसएचओ बृजेश तंवर,पंचायत समिति सदस्य धर्मेन्द्र जादीम,बेगा की नांगल सरपंच सतपाल यादव,भाजपा नेता प्रमोद बाजोर,पूर्व पाटन प्रधान संतोष गुर्जर, कर्ण सिंह बोपिया, रामरतन यादव,मोठुका सरपंच लीला राम योगी, पूर्व पंचायत समिति सदस्य सुरेश यादव,डा सुरेश यादव, बिल्लू सेठ,सहित हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।
शमशान का संकरा रास्ता बना अवरुद्ध

शहीद सूबे सिंह यादव का पार्थिव शरीर ले जा रहे वाहन को शमशान भूमि में ले जाते समय संकरे रास्ते के कारण डायवर्ट कर दूसरे रास्ते से लाया गया गौरमतलब हैं की बेगा की नांगल के शमशान भूमि में जानें वाला रास्ता काफ़ी संकरा है जिससे चार पहिए वाहन गुजरने में दिक्कत होती हैं। सेना के वाहन को शमशान के मुख्य रास्ते की बजाय दूसरे रास्ते से लाया गया।पूर्व पंचायत समिति सदस्य सुरेश यादव व वर्तमान पंचायत समिति सदस्य धर्मेन्द्र जादीम कई बार इस मुद्दे को उठा चुके हैं लेकिन अभी तक इस समस्या का समाधान नहीं हुआ है।
Previous Post Next Post
  विज्ञापन के लिए संपर्क करें..…