आस्था, चमत्कार या अंधविश्वास: महादेव, गणेश और नंदी पी रहे चम्मच से दूध, मंदिरों में उमड़े लोग; एक्सपर्ट बोले- ऐसा संभव नहीं



नीमकाथाना। भगवान भोलेनाथ, गणेश जी और नंदी महाराज की प्रतिमाएं दूध पी रही हैं। अब इसे आस्था कहे या अंधविश्वास, चमत्कार कहे या फिर कोई वैज्ञानिक घटना। शहर के मंदिरों में श्रद्धालुओं का तांता लग गया। हर कोई भगवान की प्रतिमाओं को चम्मच से दूध पिला रहा है। लोगों का दावा है कि मूर्ति के सामने दूध रखने पर वो पी रहे हैं। एक बार फिर ऐसा ही मामला शहर के विभिन्न मंदिरों में देखने को मिला। भगवान की प्रतिमा के दूध पीने की खबर से नीमकाथाना में भक्त उमड़ पड़े। कभी गणेश कभी शंकर तो इस बार नंदी के दूध पीने की बात सामने आई है। 
शहर में जाखड़ कॉलोनी में स्थित ग्राम पंचायत के पीछे भगवान भोलेनाथ का मंदिर है। इसमें नंदी जी की भी प्रतिमा स्थापित है। सावन के दिनों में मंदिर में खूब श्रद्धालु उमड़ते हैं। शाम को अचानक चर्चा हुई कि यहां नंदी की प्रतिमा दूध पी रही है। जिसके बाद जो पूरा नीम का थाना यहां उमड़ पड़ा। जय जय कार के बीच मंदिर के बाहर भारी भीड़ लग गई। घरों से दूध लाकर महिलाएं और पुरूष भक्त अपनी बारी का इंतजार कर अंदर जाता और कुछ देर बाद वापस आ जाता। हर कोई भगवान का चमत्कार होने का दावा कर रहा था। रात तक मंदिर में भारी भीड़ लगी रही। 
लोगों ने अपनी रिश्तेदारियों में भी भगवान नंदी के दूध पीने की चर्चा शुरू की तो वहां भी लोग चम्मच- कटोरी और दूध लेकर मंदिर में दौड़ पड़े। महिलाओं में तो आस्था ऐसी थी कि मंदिर के बाहर ही घंटों जमा हुजूम में तरह तरह की बाते हो रहीं थीं। दूध डेयरी बूथों पर अचानक दूध की बिक्री बढ़ गई। अचानक लोग बड़ी तादात में लोग मंदिर पर पहुंचने लगे। इधर, एक्सपर्ट से जानकारी लेने पर कहा कि ऐसा संभव नहीं हैं। आज से कुछ वर्षों पहले भी ऐसी अफवाहें उड़ी थी। इस दौरान मोहल्ले के तेजपाल, जयराम, जगदीश प्रसाद, बजरंग लाल सहित कई लोगों ने भगवान के दूध पीने का दावा किया है।
Previous Post Next Post