हमारा दुर्भाग्य क्षेत्र का विधायक सरकार व मुख्यमंत्री के लिए सिर दर्द बना- पूर्व विधायक खंडेलवाल

बजट में नीमकाथाना को जिला बनाने व कुम्भाराम परियोजना का पानी जैसी सौगात नहीं मिलने से जनता निराश 

नीमकाथाना। राज्य सरकार द्वारा 23 फ़रवरी को घोषित बजट ने लोगों की नीमकाथाना के जिले बनने की उम्मीद को एक बार फिर तोड दिया। हर साल की तरह इस बजट में भी लोगों की मांग अधूरी ही रह गई। इस बार लोगों को पूरी उम्मीद थी कि नीमकाथाना के जिले बनने के प्रस्ताव पर मुहर जरूर लगेगी। लेकिन बजट में ऐसा कोई ऐलान नहीं हुआ। साथ ही कुम्भाराम लिफ्ट परियोजना के दूसरे फैज का पानी तक भी नहीं दिया गया। यहाँ तक की नीमकाथाना विधानसभा क्षेत्र के लिए कोई बड़ी घोषणा तक नहीं हुई। जिसको लेकर क्षेत्र की जनता में काफी निराशा देखने को मिली। 
बजट में नीमकाथाना को सौगात

वितीय वर्ष 2022-23 के बजट में नीमकाथाना के दयाल का नांगल में औधोगिक क्षेत्र विकसित होगा। वहीं क्षेत्र के डाबर में 33 केवी ग्रिड बिजली स्टेशन खुलेगा।

नीमकाथाना की जनता का बजट में ये थी उम्मीदें

नीमकाथाना को जिला बनाने की मांग, कुम्भाराम लिफ्ट परियोजना जैसी सौगातें मिलने की उम्मीदें थी। प्रस्तावित बजट के बाद शहर की जनता की उम्मीदों पर पानी फिर गया हैं।

हमारा दुर्भाग्य विधायक साहब मांग नहीं करते

पूर्व विधायक रमेश खंडेलवाल ने वितीय वर्ष 2022-23 के प्रस्तावित बजट की समीक्षा करते हुए बताया कि हमारा दुर्भाग्य हैं कि क्षेत्र का विधायक सरकार व मुख्यमंत्री के लिए सिर दर्द बना रहा। नीमकाथाना के विकास को संबल देने के लिए वर्तमान विधायक ने मुख्यमंत्री से कोई भी मांग नहीं की। स्थानीय विधायक ने अपनी खान स्वीकृत करवाने के सिवाय और कुछ भी काम नहीं किया। जो खान एक हजार करोड़ की हैं जिनको मुफ्त में स्वीकृत करवा ली हैं। क्षेत्र के विकास को सिर्फ सोशल मीडिया पर ही मांगो को गिनाया गया हैं धरातल पर कोई विकास नहीं हुआ हैं। 

कांग्रेस नीमकाथाना की जनता को कर रही भ्रमित

पूर्व विधायक प्रेमसिंह बाजोर ने कहा कि कांग्रेसी नेता रोजाना क्षेत्र की जनता को भ्रमित कर रहे हैं। पिछले कांग्रेस शासन काल में कुम्भाराम लिफ्ट परियोजना की डीपीआर बनाने की घोषणा भी की थी लेकिन आज दिनांक तक उक्त योजना का बजट स्वीकृत नहीं किया गया। वहीं नीमकाथाना को जिला बनाने व पाटन तहसील बनाने का कांग्रेस झूठा झांसा देकर भ्रमित करने का कार्य कर रही हैं। जिला बनाने की मांग से पूर्व नगर परिषद की मांग रखना क्षेत्र के विकास के लिए उचित होगा लेकिन आज दिनांक तक कांग्रेस ने कोई मांग नहीं रखी। नगर परिषद बनने से पालिका पर एक वर्ग विशेष का कब्जा होने से आसपास ढाणियों का विकास नहीं हो रहा। सिवरेज को लेकर भी कोई घोषणा नहीं की गई।

नीमकाथाना की जनता के अपेक्षाओं पर पूर्णतः कुठाराघात

भाजपा जिला उपाध्यक्ष दौलतराम गोयल ने बताया कि नीमकाथाना की जनता के अपेक्षाओं पर पूर्णतः कुठाराघात हुआ हैं। युवाओं के लिए स्टेडियम की घोषणा भी नहीं हुई हैं। शिक्षा चिकित्सा को लेकर कोई बडी घोषणा नहीं हुई हैं। क्षेत्र में उधोग को प्रोत्साहन मिले ऐसी कोई घोषणा राज्य सरकार द्वारा नीमकाथाना के लिए नहीं की गई। प्रस्तावित बजट नीमकाथाना की जनता के लिए निराशाजनक बजट हैं। 

राज्य सरकार का बजट उम्मीदों से बिल्कुल विपरित

भाजपा नेत्री रेखा गोयल ने बताया कि वितीय वर्ष 2022-23 बजट की समीक्षा करते हुए बताया कि प्रस्तावित बजट उम्मीदों से बिल्कुल विपरित हैं। नीमकाथाना को जिला बनाने की मांग को एक बार फिर दरकिनार कर दिया गया। राज्य सरकार ने शहर की विकास गति को अवरूद्व करने का कार्य किया हैं।

अलग से किसान बजट पेश करना बड़ी उपलब्धि

यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बलबीर खैरवा ने बताया कि बजट कर्मचारी, किसान, स्टूडेंट्स, युवा, महिला, बुजुर्ग हर वर्ग और प्रत्येक क्षेत्र के लिए कल्याणकारी रहा, अलग से किसान बजट पेश करना बड़ी उपलब्धि रहीं लेकिन नीमकाथाना को जिला न बनाना निराशाजनक रहा।
Previous Post Next Post