बाईक सवार नकाबपोश बदमाशों ने पूर्व सरपंच से मांगी 10 लाख की फिरौती, 15 दिन में रुपए नहीं देने पर जान से मारने की भी धमकी दी

पुलिस मामले की जांच में जुटी, सरपंच परिवार सहित गांव में दहशत

नीमकाथाना। सदर थाना क्षेत्र के गणेश्वर गांव में सरपंच पति से 10 लाख की फिरौती मांगने का मामला सामने आया है। बदमाशों ने एक पत्र सरपंच पति घासीराम अग्रवाल के मेडिकल व जनरल स्टोर पर दिया। जिसमें 20 फरवरी तक रूपए नहीं देने पर जान से मारने की धमकी भी दी गई। पत्र पर महाकाल ग्रुप व उसके तीन सदस्यों के नाम लिखे हैं।

 फिरौती का पत्र लिफाफे में बदमाश रविवार शाम को दुकान के कर्मचारी को देकर गए थे। सरपंच पति किसी काम के लिए सीकर गए हुए थे। कर्मचारी ने सोमवार सुबह बताया तो परिवार के साथ पूरे गांव में हड़कंप मच गया। सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में जुटी।

बाइक पर आए तीन नकाबपोश बदमाश

जानकारी के अनुसार घासीराम अग्रवाल की गणेश्वर में किराणा व मेडिकल स्टोर की दुकान है। रविवार शाम को उनका भाई नरेश दुकान पर बैठा था। एक मुनीम व चार कर्मचारी भी थे। जो किराणा की दुकान पर थे। इसी दौरान तीन नकाबपोश बदमाश बाइक पर आए। 

जिन्होंने मेडिकल स्टोर के कर्मचारी को लिफाफा दिया। कर्मचारियों को संभाल लेने की बात कही। इसके बाद तीनों वहां से फरार हो गए। सोमवार सुबह जब लिफाफा खोलकर देखा तो उसमें 15 दिन में 10 लाख की फिरौती की मांग के साथ जान से मारने की धमकी लिखी हुई थी।

आरोपियों ने नाम के साथ लिखा मोबाइल नम्बर

जानकारी के मुताबिक पत्र में आरोपियों ने अपना नाम व पता महेश कसाणा डेरा नीमकाथाना, पपला गुर्जर खेतड़ी तथा सोनू सूटर व निक्की उर्फ बच्चिया खेतड़ी लिखा है। मोबाइल नम्बर भी लिखे हैं, जो बंद बताए जा रहे हैं।

फिरौती पत्र में लिखा "खुला चैलेंज है सरपंचजी"

जानकारी के मुताबिक पत्र के ऊपर पत्र की तामिल तारीख 6 फरवरी व लास्ट तारीख 20 फरवरी लिखी है। उसके बाद घासीराम अग्रवाल 15 दिन के अंदर 10 लाख रुपये की फिरौती दे देना। वरना 15 दिन में दूसरी रिलीज फिल्म दिखा दी जाएगी। इसके बाद सदस्यों का नाम लिखा है। अंत में लिखा कि 'खुला चैलेंज है सरपंचजी। टीम जय महाकाल खेतड़ी व नीमकाथाना। 

मामला दर्ज, पुलिस जांच में जुटी

सरपंच पति ने बताया कि मामले को लेकर सदर थाने में मामला दर्ज करवाया गया हैं। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई हैं। फिरौती की मांग पत्र को लेकर सरपंच परिवार पूरा सहमा हुआ हैं।

Previous Post Next Post