शराब ठेकदारों ने मुख्यमंत्री व आबकारी मंत्री का फूंका पुतला, ज्ञापन सौंपा

 

नीमकाथाना।राजस्थान आबकारी नीति 2021-22 का विरोध करते हुए शराब ठेकेदारों ने सोमवार को राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। शराब ठेकेदारों ने गांवड़ी मोड़ स्थित राज गंगानगर शुगर मिल मदिरा डिपो के बाहर विरोध प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व आबकारी मंत्री प्रसादी लाल मीणा का पुतला फूंका। उसके बाद समस्त ठेकेदारों ने पांच सूत्रीय मांगों को लेकर एडीएम अनिल महला को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा। शराब ठेकेदारों ने बताया कि राज्य सरकार की आबकारी नीति उन्हें गर्त में धकेलने का काम कर रही है। लगातार घाटे का सामना करना पड़ रहा है।

वीडियो देखें 👇


कोरोना महामारी व अतिवृष्टि के कारण प्रदेश में आई आर्थिक मंदी से शराब की दुकानों पर उठाव बिल्कुल ही कम रह गया। जिसके चलते समस्त शराब ठेकेदारों ने आबकारी नीति 21-22 में छूट देने को लेकर विरोध प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन सौंपा। जिसमें मुख्य पॉलिसी के अनुसार अनुज्ञाधारी को उसका 25 प्रतिशत कमीशन दिया जाएं। कोरोना महामारी के चलते आई आर्थिक मंदी को लेकर गारंटी की बाध्यता को समाप्त किया जाएं।
आबकारी ठेकेदारों ने एडीएम को राज्यपाल के नाम ज्ञापन देते हुए

महामारी में दुकानों को 10 घंटे की बजाय 5 घंटे खोला गया उस दौरान की कंपोजिट फीस को आधा किया जाएं। वहीं कंटेनमेंट जोन में दुकानें बंद रही उतने दिन की कंपोजिट फीस में भी छूट सहित शराब उठाव में सभी प्रकार के राइडर पूर्णतया हटाने की मांग की गई। वहीं रविवार को लगे वीकेंड कर्फ्यू में विभागीय सूचना के बिना ही पुलिस द्वारा सभी दुकानों को बंद करवाया गया। जिसका समस्त ठेकेदारों ने विरोध जाहिर किया। इस दौरान बंशी गुर्जर, किशोर, योगेंद्र, बलबीर, पप्पी यादव, रंधावा, हरीश मीणा, संतोष, कृष्ण सहित गोकुल दिवाच आदि मौजूद रहे।

Previous Post Next Post