सिरोही के एसएसबी हैड कांस्टेबल भवानी सिंह लांबा का हृदय गति रुकने से निधन


आज सुबह 8 बजे सम्मान में निकलेगी तिरंगा यात्रा

राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

नीमकाथाना। उपखंड क्षेत्र की ग्राम पंचायत सिरोही की ढाणी आसावाली में जम्मू कश्मीर में तैनात एसएसबी हैड कांस्टेबल भवानी सिंह लांबा वीरगति को प्राप्त हो गए। श्रीनगर इंस्पेक्टर धर्माराम व दिल्ली हैड क्वार्टर से 14 जवानों के साथ जवान का पार्थिक शरीर मंगलवार रात को नीमकाथाना पहुंचा। सरपंच जयप्रकाश कस्वां ने जानकारी देते हुए बताया कि सिरोही ग्राम के भवानी सिंह लांबा की हृदय गति रुक जाने से वीरगति को प्राप्त हो गए। लांबा जम्मू कश्मीर में एसएसबी की 14वीं बटालियन में हैड कांस्टेबल के पद पर तैनात थे। बुधवार सुबह साढ़े 8 बजे हजारों की संख्या में पैतृक गांव सिरोही से उनके निवास तक तिरंगा रैली निकाली जाएगी। मोक्ष धाम में राजकीय सम्मान के साथ संस्कार किया जाएगा।
देश सेवा के लिए 2005 में हुए थे भर्ती
भवानी सिंह लांबा किसान परिवार से थे उनकी संपूर्ण शिक्षा गांव में हुई गांव में 2005 में उनका चयन एसएसबी में कांस्टेबल के रूप में हुआ वर्तमान समय वह हैड कांस्टेबल के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे थे।

15 साल पहले कैंसर से पिता का हो गया था स्वर्गवास
भवानी सिंह के पिता कन्हैया लाल खेती का कार्य करते थे। करीब 15 साल पहले कैंसर के कारण इनकी पिता का स्वर्गवास हो गया था। जिसके बाद परिवार का बोझ लांबा पर आ गया।

जवान के एक बेटा व एक बेटी
लाम्बा के दो संतान हैं एक पुत्र एक पुत्री हैं दो बहने हैं एक बहिन सीआरपी में अपनी सेवा दे रही है भवानी सिंह उद्धार और स्वाभाविक प्रवृत्ति के व्यक्ति थे।
Previous Post Next Post