चिकित्सा विभाग की टीम ने नीमकाथाना में 25 किलो मिल्क केक और 60 किलो रसगुल्ले किए नष्ट

चिकित्सा विभाग की टीम ने शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत नीमकाथाना में की कार्रवाई

नीमकाथाना। दीपावली पर्व पर आमजन को मिलावट रहित खाद्य वस्तुएं उपलब्ध हो, इसके लिए चिकित्सा विभाग की ओर से शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत लगातार कार्रवाई की जा रही है। विभाग की ओर से रविवार को नीमकाथाना में कार्रवाई कर खराब 25 किलो मिल्क केक और 60 किलो रसगुल्ले किए नष्ट किए गए।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि विभाग के खाद्य सुरक्षा अधिकारी रतन गोदारा व मदन बाजिया ने नीमकाथाना कस्बे में कार्रवाई कर 6 सेम्पल लिए। सभी सैम्पलों को जांच के लिए जयपुर स्थित खाद्य प्रयोगशाला में भिजवाया गया है।  रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी। 
एफएसओ रतन गोदारा ने बताया कि कस्बे में चौधरी मावा भंडार, पीयूष मिष्ठान भंडार, शाकम्बरी मिष्ठान उद्योग, एमएलबी मावा पनीर भंडार, न्यू जोधपुर रेस्टोरेंट व विनायक रेस्टोरेंट पर खाद्य वस्तुओं की जांच की गई। इस दौरान शाकम्बरी मिष्ठान उद्योग पर मिले बदबूदार  25 किलो मिल्क केक और 60 किलो रसगुल्ले किए नष्ट करवाया गया। इसके अलावा घी, मावा, पनीर, मिश्री मावा, कलाकन्द, छेना मिठाई का एक-एक सैम्पल लिया गया। नीमकाथाना में एक दर्जन से अधिक दुकानों का निरीक्षण किया गया। इस दौरान व्यापारियों को प्रतिष्ठान में साफ सफाई रखने, कोविड-19 प्रोटोकाल की पालना करने और मिलावट रहित खाद्य सामग्री आमजन को उपलब्ध कराने की हिदायत दी गई।
Previous Post Next Post