क्षेत्र में लॉकडाउन की आड़ में अवैध काम जोरों पर, शिकायतों के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं


नीमकाथाना/पाटन। राजस्थान सरकार द्वारा कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव को लेकर पूरे प्रदेश में लॉक डाउन लगा रखा है। पालना में प्रशासन मुस्तैदी के साथ अपनी ड्यूटी निभा रहा है। महामारी के कारण मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है ऐसे में प्रशासन के पास दो-दो जिम्मेदारियां आ गई पहली जिम्मेदारी आमजन को लॉक डाउन की पालना करवाना और दूसरी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी गंभीर मरीजों को बचाने के प्रयास करना। परन्तु इस लॉक डाउन की आड़ में कुछ लोग अवैध कार्य कर चांदी कूटने में लगे हुए हैं। शायद या तो इन कार्यों की जानकारी प्रशासन को नहीं है और अगर है तो प्रशासन कार्यवाही करने में मजबूर हो रहा है। रामपुरा बेगा की नांगल के लोगों ने विगत डेढ़ माह से रामपुर बस स्टैंड पर स्थित शराब के ठेके की शिकायत कर रखी है परंतु शिकायत की तरफ अभी तक प्रशासन का ध्यान नहीं गया है। वही लॉक डाउन की आड़ में शराब ठेकेवालो द्वारा अवैध शराब की ब्रांचे व रात को भी शराब बेच रहे हैं। ग्राम पंचायत रामसिंहपुरा से फतेहपुरा जाने वाले मार्ग पर अवैध खनन किया जा रहा है। खेतों में अवैध रूप से मोरम मिट्टी निकाली जा रही है। कई लोगों ने व्यापारियों द्वारा अंकित मूल्य से अधिक मूल्य पर माल बेचा जा रहा है। ग्रामीणों ने शिकायतों के माध्यम से प्रशासन को अवगत करवा दिया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने से इन सभी के हौसले बुलंद है। हालांकि देश में कोरोना की दूसरी खतरनाक लहर से सरकार एवं प्रशासन बहुत चिंतित है तथा आमजन को बचाने के प्रयास करने में जुटी हैं वहीं ऐसे समय में अवैध कार्य करने वालों की भी कमी नहीं है जो अवैध कार्य के जरिए प्रशासन को परेशान कर सरकार को नुकसान पहुंचा रहे हैं और चांदी कूटने में लगे हुए हैं। प्रशासन की भी मजबूरी है कि वह पहले आमजन को बचाने का प्रयास करें और बाद में शिकायत कर्ताओं कि शिकायतों पर ध्यान दें।
Previous Post Next Post