अलवर। राजस्थान का मोस्ट वांटेड अपराधी गैंगस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर पकड़ा गया है। सितम्बर 2019 से फरार चल रहे पपला गुर्जर को पकड़ने में राजस्थान की अलवर पुलिस ने 28 जनवरी को सफलता हासिल की है।
17 माह बाद पपला गुर्जर को अब महाराष्ट्र के कोल्हापुर से गिरफ्तार किए जाने की सूचना है। पुख्ता जानकारी पुलिस कांफ्रेंस के बाद मिल सकेगी। पपला की गिरफ्तारी को लेकर जयपुर रेंज पुलिस द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे थे। पूरे मामले के संबंध मं डीजीपी जयपुर शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। राजस्थान पुलिस ने पपला पर तीन लाख का इनाम रखा हुआ था।

जानिए कौन है पपला गुर्जर

बता दें कि कुख्यात बदमाश पपला गुर्जर हरियाणा के महेन्द्रगढ़​ जिले के खैरोली का रहने वाला है। हरियाण और राजस्थान में पपला गुर्जर कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। यह कहना गलत नहीं होगा कि पपला गुर्जर कभी राजस्थान में आतंक का पर्याय रहे गैंगस्टर आनंदपाल जितना खतरनाक है। पपला ने अपने गुरु शक्ति गुर्जर की हत्या का बदला लेने के लिए अपराध की दुनिया में कदम रखा और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा।

जसराम गुर्जर की हत्या का बदला लेने आया था बहरोड़

सितम्बर 2019 में गैंगस्टर पपला गुर्जर अपनी गैंग के करीब एक दर्जन बदमाशों के साथ राजस्थान अलवर जिले के बहरोड़ थाना इलाके में आया था। यहां पर लादेन गैंग से हिस्ट्रीशीटर जसराम गुर्जर उर्फ जसराम पटेल की हत्या का बदला लेने के लिए आया था। इसी दौरान बहरोड़ पुलिस के हत्थे चढ़ गया था। बहरोड़ पुलिस पपला गुर्जर को पकड़कर थाना तो ले आई, मगर 24 घंटे भी हिरासत में नहीं रख सकी। 6 सितम्बर 2019 की सुबह पपला गुर्जर के साथी फिल्मी स्टाइल में बहरोड़ पुलिस थाने पर हमला करके उसे छुड़ा ले गए थे।

जुलाई में हुई थी जसराम गुर्जर की हत्या
जुलाई में हुई थी जसराम गुर्जर की हत्या
बता दें कि राजस्थान विधानसभा 2018 में अलवर जिले की बहरोड़ विधानसभा सीट से बतौर बसपा प्रत्याशी चुनाव लड़ने वाले जसराम गुर्जर की जुलाई 2019 में लादेन गैंग के बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। हिस्ट्रीशीटर जसराम गुर्जर बहरोड़ के गांव जैनपुर का रहने वाला था। गोली लगने के बाद उसे कैलाश अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई थी। जसराम की हत्या का आरोप मेवात में सक्रिय लादेन गैंग के विक्रम गुर्जर उर्फ लादेन, पहाड़ी के मामराज, रामवतार सहित आधा दर्जन लोगों पर लगे थे।

 चाबी नहीं मिली तो तोड़ा ताला

पपला गर्जुर के साथियों ने बहरोड़ पुलिस थाने में घुसते ही हवाई फायर शुरू कर दिया था। फिर वे सीधे लॉकअप की ओर गए, जहां उनका साथी बंद था। उसे छुड़वाने के लिए बदमाशों ने हवालात खोलना चाहा, मगर ताले की चाबी नहीं मिली। इस पर उन्होंने ताला ही तोड़ दिया था।

 आनंदपाल की तरह फेसबुक पर रहता था एक्टिव

राजस्थान के नागौर जिले की लाड़नू तहसील के गांव सांवराद निवासी गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का 24 जून 2017 को चूरू जिले की रतनगढ़ तहसील के गांव मालासर में ​श्रवण सिंह के घर पर एनकाउंटर कर दिया गया। आनंदपाल फेसबुक पर काफी एक्टिव रहा करता था। आनंदपाल के नाम से हथियारों संग फोटो व पुलिस को चुनौती देने वाले पोस्ट अक्सर फेसबुक पर अपलोड होती रहती थी। सोशल मीडिया पर भी दहशत फैला रखी थी।


- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।