पाटन थाना अंतर्गत ग्राम श्यामपुरा में विगत 3 दिसंबर को बुजुर्ग के साथ की गई मारपीट का मामला पाटन थाने में दर्ज नहीं होने से 4 दिसंबर को पुलिस अधीक्षक सीकर को प्रार्थना पत्र भेजकर  गुहार की गई परंतु जब मामला दर्ज नहीं हुआ तो पीड़ित पक्ष न्यायालय में पंहुचा और इस्तागसे  के आधार पर मामला दर्ज करवाया। 

जय राम पुत्र प्रभु दयाल निवासी श्यामपुरा ने परिवाद दर्ज करवाया जिसमें लिखा है कि परिवादी की  उम्र 67 वर्ष है तथा हार्ट की बीमारी से ग्रसीत है। परिवादी सुबह-सुबह टहलने के लिए जाता हैं।

3 दिसंबर को सुबह करीब 7:45 बजे टहलकर अपनी पत्नी लीला देवी के साथ वापस आ रहा था कि रास्ते में मुलजिम लाल चंद कुमावत, रमेश कुमावत, रामअवतार पुत्र लालचंद ने परिवादी व परिवादी की पत्नी को रोक लिया तथा परिवादी व उसकी पत्नी के साथ गाली गलौज करने लग गए परिवादी ने जब मना किया तो परिवादी के धक्का मारकर दीवार में दे दिया। परिवादी जैसे तैसे अपने घर पहुंचा तो परिवादी के पीछे पीछे सभी मुलजिम जिसमें लाल चंद कुमावत, रमेश कुमावत, रामअवतार पुत्र लालचंद, मणि देवी पत्नी राम अवतार, ललिता पत्नी रमेश, विमला पत्नी लालचंद हाथों में लकड़ी, कसिया व धारदार हथियार लेकर आए व परिवादी के घर में घुसकर ताबड़तोड़ मारपीट शुरू कर दी इससे परिवादी के बाएं अंगूठे में तथा परिवादी के लड़के गजानंद के नाक पर व अन्य जगहों पर गंभीर चोटें आई है।

ललिता पत्नी रमेश ने परिवादी की पत्नी के बाएं हाथ पर धारदार हथियार से गंभीर चोट मारी तथा परिवादी की पुत्रवधू श्रीमती सरिता के साथ रमेश कुमावत ने मुक्के की मार् कर दांत तोड़ दिया। मुलजिम द्वारा की गई आपराधिक घटना की बाबत परिवादी द्वारा 3 दिसंबर को पुलिस थाना पाटन पर मुकदमा दर्ज करने हेतु प्रार्थना पत्र पेश किया किंतु पाटन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया। 

परिवादी ने 4 दिसंबर को पुलिस अधीक्षक सीकर को  जरिए रजिस्टर्ड डाक द्वारा प्रार्थना पत्र पेश किया इसके बावजूद भी मुकदमा दर्ज नहीं होने के कारण यह परिवाद माननीय न्यायालय में पेश किया जाना आवश्यक हुआ। न्यायालय के आदेश पर बुजुर्ग एवं उनके परिवार के साथ की गई मारपीट का मामला दर्ज हुआ।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।