ख़बर- 1

पाटन न्यूज़: डोकन से भीतरो गांव की सड़क का मामला हो या डोकन बस स्टैंड की क्षतिग्रस्त सड़क का प्रकरण हो, इन दिनों  डोकण गांव के लोगों को प्रशासन की उपेक्षा का शिकार होना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि डोकण मैन बस स्टैंड पर दिल्ली कुचामन हाईवे सड़क में बहुत गहरे गड्ढे बन चुके हैं जिसके बारे में ग्रामीणों ने कई बार स्थानीय प्रशासन एवं स्थानीय नेताओं को भी अवगत करवा दिया था, परंतु स्थानीय प्रशासन एवं स्थानीय नेताओं की उपेक्षा के कारण आए दिन दुर्घटनाएं घट रही है।

आज एक तूडी से भरा ट्रैक्टर उस गड्ढे में पलट गया जिस कारण रोड पर लंबा जाम लग गया। ग्रामीणों ने जाम खुलवाने के लिए मीठा राम बाबा के रास्ते से उन वाहनों को निकलवाया। डोकण ग्राम पंचायत के सरपंच प्रतिनिधि बलराम गिराटी ने बताया कि ग्राम पंचायत डोकन के मेन बस स्टैंड पर, इंदिरा कॉलोनी, रायपुर मोड़ के पास बहुत गहरे गड्ढे हो चुके हैं जिसके चलते आए दिन वाहन खराब हो जाते हैं तथा हमेशा दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। 

इस बारे में कई बार स्थानीय प्रशासन एवं स्थानीय नेताओं को अवगत भी करवाया गया परंतु स्थानीय प्रशासन एवं नेताओं ने कोई ध्यान नहीं दिया।ग्राम पंचायत में भी इस तरह का कोई बजट नहीं है कि ग्राम पंचायत इन गड्ढों को भरवा सके जिस कारण भारी वाहनों को इन गड्ढों से होकर निकलना पड़ता है। गड्ढों से निकलते वक्त वाहनों का संतुलन भी बिगड़ता रहता है जिससे आए दिन दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। वही डोकन से भीतरो गांव तक पक्की सड़क नहीं होने से ग्रामीणों को कच्ची सड़क से होकर आना पड़ता है जबकि भीतरो गांव के लोग वर्षों से सड़क की मांग करते हुए आ रहे हैं।



ख़बर- 2

खनन कारोबारियों की इनकम, अब आम आदमी के लिए जानलेवा 

नीमकाथाना/ब्यूरो चीफ मनीष टांक। बढ़ते खनन के साथ साथ बढ़ती डंपरो की संख्या आम जन जीवन को बहुत अधिक प्रभावित करने लगी है क्योेंकि इनसे हर तरफ सड़कों का हाल बेहाल हो गया है तथा इनसे उडने वाली धूल धुआं भी शारीरिक एवं मानसिक तौर पर नुकसान पहूंचाती है। 

भूदौली गांव के ग्रामीणों ने अपनी विभिन्न मांगो को लेकर प्लाटो में डंपरों को लगभग 2 घंटे रूकवाया एवं पानी का टैंकर डलवाया गया तथा ग्रामीणों ने डम्फर मालिकों एवं खनन कारोबारियों से आगे भी डलवाने की बनी सहमती तद्पश्चात् ही डंपरों को जाने दिया गया। 

छात्रसंघ अध्यक्ष विनोद कुमार सैनी ने बताया कि खनन कारोबारियों को पहले भी कई बार अवगत करवा दिया गया है लेकिन कोई सुनवाई नहीं की गई। छात्रसंघ अध्यक्ष ने यह भी बताया कि अगर इसका समाधान नहीं किया गया तो हाई कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाएंगे। इस दौरान अनिल नायक, चिमू सिंह, सरपंच दिनेश जांगिड़ इस मौके पर अशोक कुमावत गोलू नायक मनोज वर्मा मनीष मीणा सहित सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहें।


- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।