नीमकाथाना।पाटन थाना अंतर्गत ग्राम  काचरेडा निवासी बनवारी लाल टेलर उर्फ बन्ना जो विगत 20 वर्षों से मानसिक विक्षिप्त चल रहा था उसका शव सोमवार की रात पाटन से केसर जाने वाले जंगल में मिला। थाना अधिकारी नरेंद्र सिंह भड़ाना ने बताया कि मोबाइल पर शाम आठ बजे एक समाचार मिला  कि पाटन से केसर जाने वाले रास्ते में स्थित प्राचीन बावड़ी के पास हनुमान जी के मंदिर के पास एक शव पड़ा हुआ है जिस पर मक्खियां भिन्न-भिन्ना रही है एवं शव मे बदबू भी आ रही है
तथा जंगली जानवर उसके पास घूम रहे हैं। जानकारी जुटा कर हम पुलिस जाब्ते के साथ गाड़ी लेकर रवाना हुए तथा गाड़ी को पाटन महल के पास  खड़ी कर वहां से 2 किलोमीटर दूर जहां मृतक का शव पड़ा हुआ था उसको कब्जे में कर वापस आए। जंगल में जाने के लिए कोई रास्ता भी नहीं था पगडंडियों से होते हुए बड़ी मुश्किलों से शव को लेकर राजकीय रेफरल चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया गया। प्रथम दृष्टया शव को देख कर ऐसा लगता था कि उसको किसी जहरीले जानवर ने काट लिया जिस कारण उसकी वहीं पर मौत हो गई।  मंगलवार सुबह मृतक का पोस्टमार्टम करवा कर शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया।  इस दौरान पाटन थाने के हेड कांस्टेबल वीर सिंह, कांस्टेबल ताराचंद मीणा कस्बे से रुडमल नायक भी साथ रहे।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।