उमेश शर्मा की खास रिपोर्ट ✍️✍️
गणेश्वर@नीमकाथाना उपखंड क्षेत्र के गांव गणेश्वर के गालव गंगा तीर्थ धाम जहाँ दिन रात गर्म जल धारा गो मुख से निकलती हैं। लोग यहां पवित्र स्नान के लिए आते हैं। गालव कुंड में डूबने से कई घरो के चिराग बुझ गए।
10 वर्ष के अंतराल में गालव कुंड में डूबने से करीब 29 लोगो की मौत हो गई। लेकिन पंचायत प्रशासन से लेकर उपखण्ड प्रशासन तक मौन हैं। यहां लोग पवित्र स्नान के लिए आते हैं मन्नते मांगते हैं। लेकिन तीर्थ धाम पर सुरक्षा व्यवस्था के कोई पुख्ता इंतजाम नही हैं।
कई सामाजिक संगठनो ने तीर्थ धाम के कुंड की गहराई कम करने की प्रशासन से मांग उठाई है। दरअसल कई बार तीर्थ धाम पर बने कुंड की गहराई कम करने की कई बार मांग उठाई जा चुकी हैं लेकिन कोई भी इस ओर ध्यान नही देता हैं। इनका कहना है....
ग्रामीणो का कहना हैं की सावन माह में हजारों की संख्या में पवित्र स्नान के लिए श्रद्धालु यहां पहुँचते हैं। सावन माह में कई सामाजिक संगठनो के युवा यहां सेवा देते हैं लेकिन इस वर्ष सावन माह में कोई भी युवा सेवा नही दे रहे हैं।कोरोना से युवाओ को डर लगता हैं। ग्रामीणो ने प्रशासन से गुहार लगाई हैं की इस सावन माह में तीर्थ धाम पर स्नान पर रोक लगाई जाए।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।