परिवार व गांव में शोक की लहर, सभी दुकानें रही बन्द
29 जून को साले की शादी में आना था जवान
नीमकाथाना@ 29 मई को ग्राम पंचायत भूदोली के आईटीबीपी जवान रामसिंह मीणा की हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया। जिसकी सूचना मिलने के बाद परिजनों व गांव में शोक की लहर दौड़ गई। पार्थिक देह शनिवार देर रात पैतृक गांव में पहुंचा। रविवार को सैन्य समान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। पूरे गांव के लोगों ने नम आंखों से अंतिम विदाई दी। सभी प्रतिष्ठानों को भी बन्द रखा गया। इस दौरान प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कई जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे। वहीं आदिवासी मीणा सेवा संघ के प्रदेश प्रधान सुरेश मीणा किशोरपुरा व समाज के लोगों के साथ पूर्व विधायक रमेश खंडेलवाल ने जवान को शहीद का दर्जा देने व परिवार को केंद्र व राज्य सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग की है।
हृदय गति रुक जाने से हुआ निधन:- दसवीं दसवीं भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस बल के जवान राम सिंह मीणा की आशिकी सांग्स प्रॉब्लम के चलते मेडिकल कॉलेज राजौरी जम्मू कश्मीर में अंतिम सांस ली।
आइटीबीपी में 2012 मैं हुए थे भर्ती:- राम सिंह मीणा देश सेवा के लिए शुरुआत से जज्बा रखते थे मेहनत को देखते हुए 2012 में दसवीं भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस बल जीडी के पद पर चयन हुआ जो निरंतर सेवाएं दे रहे थे।
परिवार में सबसे छोटा था रामसिंह:- भूदोली निवासी रामसिंह मीणा के परिवार में तीन बहिन व तीन भाई जो सभी शादीशुदा है। वहीं जवान की शादी विगत 21 माह पहले हुई थी। केवल परिवार के एक यह ही नौकरी के होने से परिवार का पालन पोषण चल रहा था।
29 जून को साले की शादी में आने थे छुट्टी:-आईटीबीपी जवान मीणा के साले की शादी 29 जून को तय होने के बाद विगत पांच माह बाद घर आने थे। लेकिन हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया।
जवान की मां का 6 माह पहले हो गया था देहांत:- जवान रामसिंह मीणा की माताजी का देहांत विगत 6 माह पहले ही हो चूका था। परिवार की आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं बताई जा रही केवल एक मात्र नौकरी होने से परिवार चल रहा था।