Update Your App Now

News Update

पाटन राजकीय रैफरल चिकित्सालय में असुविधाओं का आलम, मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन

पाटन-कस्बे में स्थित राजकीय रैफरल चिकित्सालय में इन दिनों  असुविधाओं का आलम होने से मरीजों को खासा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिसको लेकर पाटन कॉलेज संघर्ष समिति के अध्यक्ष राजू सैनी ने मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री को ज्ञापन भेजकर राजकीय रेफरल चिकित्सालय में सुविधाओं की मांग की है।सैनी ने अपने ज्ञापन में लिखा है कि राजकीय रेफरल चिकित्सालय के नीचे 62 गांव 72 ढाणीया पड़ती है तथा अधिकांश गांवों के  मरीजों को यही इलाज के लिए आना पड़ रहा है। हॉस्पिटल में अधिकांश चिकित्सक नहीं मिलने के कारण उनको बहुत असुविधाओं का सामना करना पड़ता है।
वहीं सरकार द्वारा निशुल्क दवा वितरण योजना का लाभ भी उन लोगों को नहीं मिल पा रहा है। हॉस्पिटल में फार्मासिस्ट के अभाव में मरीजों को दवाइयां नहीं मिल पा रही है। चिकित्सालय में महिला रोग विशेषज्ञ नहीं होने के कारण महिलाओं को पाटन से 25 किलोमीटर दूर कोटपूतली या नीमकाथाना जाकर अपना इलाज लेना पड़ रहा है ऐसे में मरीजों को धन एवं समय दोनों ही खराब करने पड़ रहे हैं। सैनी ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि राजकीय रेफरल चिकित्सालय में अगर सर्जन महिला रोग विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ की नियुक्ति कर दी जाए तो रोगियों को बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, वहीं चिकित्सालय में रेडियो ग्राफर के अभाव में मरीजों को बाहर से  एक्स रे करवाना पड़ रहा है।चिकित्सालय के बाहर गंदगी का ढेर लगा रहता है जिस कारण यहां के अधिकांश मरीज इस गंदगी की चपेट में आने से अपने इलाज की जगह ज्यादा गंभीर बीमार हो जाते हैं।
चिकित्सालय में चिकित्सकों के 8 पद हैं जिसमें से एमडी मेडिसिन, एमडी पेडेट्रिशियन, गायनोलॉजिस्ट ,मेडिकल ऑफिसर में फार्मासिस्ट के पद रिक्त चल रहे हैं।चिकित्सालय में आसपास दूर दराज से लगभग 500 मरीज रोज आते हैं परंतु असुविधाओं के चलते उनको खासा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस बारे में डिप्टी सीएमएचओ भी कोई जवाब नहीं दे पा रहे हैं। सैनी ने चिकित्सालय की समस्याओं को लेकर अनेकों बार सीएमएचओ सीकर को लिखित शिकायत भेजकर अवगत भी करवाया परंतु सीएमएचओ सीकर  ने भी  शिकायतों पर कोई ध्यान नहीं दिया जिस कारण कस्बे के लोगों में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के प्रति खासा नाराजगी देखने को मिली है। बुधवार को राजू सैनी के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन पाटन नायब तहसीलदार को दिया गया जिसमें प्रेम सिंह तंवर, अजीत सिंह यादव, शेर सिंह सैनी, अनूप, कपिल माली, प्रदीप यादव, नेतराम, निखिल, सोनू बागड़ी, बजरंग मीणा सहित दर्जन भर समिति के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

header ads