विज्ञापन मात्र500/- से शुरू

News Update

पुतला दहन व रोड़ जाम को लेकर एसडीएम व धरनार्थियों के बीच गहमा-गहमी, समझाईश के बाद स्थगित, आठ अगस्त तक का दिया समय

समिति का 50 वें दिन भी क्रमिक अनशन व धरना जारी रहा
नीमकाथाना-संघर्ष समिति ने सोमवार को धरना स्थल पर नगरपालिका अध्यक्ष त्रिलोक दीवान का पुतला दहन एवं रास्ता जाम के ऐलान पर प्रशासन हरकत में आया। उपखण्ड अधिकारी अंजू शर्मा, थानाधिकारी विजय तिवाड़ी मय जाब्ते धरना स्थल पर पहॅुचकर धरनार्थियों से समझाईश की। इस दौरान उपखण्ड अधिकारी व धरनार्थियों के बीच गहमा गहमी का माहौल हो गया। समिति के संयोजक सांवलराम यादव ने उपखण्ड अधिकारी से वार्ता करते हुए कहा कि पूर्व में भी आपने समिति से वादा कर जनहित की मांग को हल करने की बात कही थी। लेकिन 15 दिवस बाद पत्र लिखकर समिति के आंदोलन को हलके में लिया।
जिससे समिति आपकी किसी वार्ता पर विश्वास नहीं करती हैं। संघर्ष समिति के सदस्यों एवं उपखण्ड अधिकारी के मध्य तनाव पूर्वक वार्ता हुई। आखिरी में बार बार निवेदन करने पर एक बार फिर पुतला दहन एवं सड़क जाम के ऐलान को स्थगित करवाकर उपखण्ड अधिकारी ने कहा कि शीघ्र ही कलैक्टर को पत्र लिखकर भूमि अधिग्रहण को लेकर समस्या को जल्द से जल्द समाधान करवाया जावेगा। संघर्ष समिति ने चेतावनी दी है कि आठ अगस्त तक अगर समस्या का समाधान नहीं हुआ तो 09 अगस्त को पालिकाध्यक्ष के पुतले की शव यात्रा निकालकर नगरपालिका का घैराव कर विरोध प्रर्दशन किया जावेगा।
जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। समिति का फाटक नम्बर 76 पर चल रहे डबल अंडरपास को चालू करवाने, पुलिया के दोनों तरफ सर्किल बनाने एवं पुलिया विस्तार को लेकर सोमवार को 50 वें दिन भी क्रमिक अनशन व धरना जारी रहा। संघर्ष को तेज करने के लिए डॉ. जवाहरसिंह, हरिसिंह राव, सूबेदार पूरणसिंह, तेजसिंह, महावीर यादव की टीम बनाकर क्षेत्र के लोगों से संपर्क कर संघर्ष और मजबूत बनाने का जिम्मा लिया। इस दौरान भुवनेश शर्मा, प्रवीण सिंह, जुगलकिशोर, जयप्रकाश मीणा, देशराज जाखड़, संतोष जांगिड़, लालचंद सोनी, रोहिताश सुंडा, मुकेश गुर्जर आदि मौजूद रहे।