नीमकाथाना न्यूज़ के लक्की में ड्रा भाग लें

News Update

लापरवाही--सरकारी सोनोग्राफी जांच में पित की थैली में दो पत्थरी, जबकि दूसरी जांच में पत्थरी नहीं

परिजनों ने सोनोलोजिस्ट के खिलाफ आक्रोश व्याप्त कर पीएमओ को शिकायत की

राजकीय कपिल अस्पताल का है मामला
नीमकाथाना- जिले का दूसरे नंबर का सबसे बड़े राजकीय कपिल चिकित्सालय में शुक्रवार को सोनोग्राफी जांच में बड़ी गड़बड़ी होने का मामला सामने आया हैं। जहां परिजनों ने सोनोलोजिस्ट के खिलाफ हंगामा कर दिया। बाद में डाॅक्टर के खिलाफ उचित कार्यवाही को लेकर अस्पताल पीएमओं से शिकायत की।
जानकारी के अनुसार हीरानगर निवासी राजेश बाजिया ने बताया कि 28 जून को मेरी पत्नी अनिता देवी की अचानक उल्टी दस्त होने से तबीयत खराब हो गई थी। जिसको कपिल चिकित्सालय में उपचार के लिए चिकित्सक को दिखाया। जहां चिकित्सक ने सोनोग्राफी जांच लिखी। अस्पताल में सोनोलोजिस्ट उप निदेशक डाॅ. महिपाल सिंह से जांच करवाई। जांच में पित की थैली में दो पत्थरी होना पाया गया। जांच के आधार पर डाॅक्टर ने पत्थरी का ईलाज शुरू कर दिया। मरीज के कोई लाभ नहीं होने पर डाॅक्टर ने ऑपरेशन की राय दी।
अस्पताल में उचित संसाधन नहीं होने के कारण अन्य हाॅस्पीटल में ऑपरेशन करवाने की बात कही।
जिसपर परिजनों ने नीमकाथाना में निजी अस्पताल में ऑपरेशन के लिए भर्ती करवा दिया। जहां डाॅक्टर ने भामाशाह योजना में ऑपरेशन करने के लिए फिल्म की जरूरत पड़ने पर दोबारा सानोग्राफी निजी नर्सिंग होम से करवाने पर जांच साधारण आई। परिजनों ने शुक्रवार 19 जुलाई को फिर सरकारी अस्पताल में उसी सोनोलोजिस्ट से जांच करवाने पर वहां भी साधारण जांच सामने आई।
परिजनों ने पीएमओ को शिकायत की- जिसपर परिजनों ने सोनोलोजिस्ट डाॅक्टर सिंह के खिलाफ जांच में लापरवाही बरतने को लेकर अस्पताल पीएमओ डाॅ. एलएन जोटोलिया को डाॅक्टर के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करने की शिकायत दर्ज करवाई।
इनका कहना हैं- अस्पताल पीएमओ डाॅ. एलएन जाटोलिया ने मामले को लेकर बताया कि पीड़ित ने लिखित शिकायत दी हैं जिसपर जांच करवाकर सोनोलोजिस्ट के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जावेगी।

header ads