पाटन--निकटवर्ती ग्राम बोपिया में इन दिनों आवारा व घुमक्कड़ गायों के साथ साथ आवारा सांडों ने भी किसानों की नींद उड़ा दी है ये आवारा गाये किसानों के खेतों में घुस कर फसल को चौपट करने में लगी हुई है। बोपिया निवासी बने सिंह हथवाला ने बताया की पूर्व में ग्राम हसामपुर में आवारा गाये गौशाला में रहती थी। जिनके चारे पानी की संपूर्ण व्यवस्था गौशाला समिति किया करते थे तथा गोपालक इन गायों को चुरा कर वापस गौशाला में बांध देता था। जिससे क्षेत्र में पूर्ण रूप से शांति थी इस के लिए हम लोग भी विवाह शादियों में गायों के नाम से पैसा निकाल कर गौशाला समिति को देकर मदद करते थे।
परंतु मार्च 2019 के बाद से गौशाला की कमेटी व समूची कार्यकारिणी भंग हो गई तथा इन सभी आवारा वह घुमक्कड़ गायों को गौशाला से बाहर कर दिया गया जिस कारण अब  ये गाये अपना पेट भरने के लिए इधर उधर घूमती रहती हैं। परंतु अब जब किसानों ने अपने खेतों में बिजाई शुरू कर दी है और बाजरा भी निकलने लगा है ऐसे में यह आवारा गाय झुंड की झुंड के साथ आकर खेतों की फसल नष्ट करने में लगी हुई है जिस कारण किसानों की नींद उड़ी हुई है। बने सिंह ने सरकार व सरकार के जनप्रतिनिधियों से मांग की है कि इन आवारा गायों पर अंकुश लगाया जाए ताकि किसानों की स्थिति ठीक हो सके।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।