डिजिटल नीमकाथाना टीम की तरफ से स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं...

News Update

पहल- अब सरकारी स्कूल में ही पढेंगे सालावाली के बच्चे ग्रामीणों ने बैठक करके लिया फैसला

स्कूल में लगाये निजी खर्चे से 3 शिक्षक अब शिक्षा के लिए नही जाना पड़ेगा 3 किमी दूर 
गणेश्वर(उमेश शर्मा)-सालावाली में शहीद गोकुलचंद यादव राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय सालावाली में शुक्रवार को ग्रामीणों ने बैठक ली। बैठक में ग्रामीणों ने अहम फसला लिया गया। सालावाली में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में एक अनुकरणीय पहल की आज के इस युग में शिक्षा के बाजारीकरण को देखते हुए गांव के सभी युवाओं एवं बुजुर्गों ने तय किया कि गांव के सभी बच्चे सरकारी स्कूल में पढ़ाएंगे व ग्रामीणों ने यह भी तय किया कि सरकारी स्कूल में गणित है इंग्लिश की फैकल्टी ग्रामीण अपने स्तर पर सुविधा करेंगे तथा सभी ग्रामीण एकजुट होकर सरकारी विद्यालय में अपने बच्चों का प्रवेश करवाएंगे। 
सालावाली ढाणी में राजकीय विद्यालय में बैठक की गई जिसमें सरकारी स्कूल में पढाने का फैसला लिया गया।

वर्तमान युग में शिक्षा एक बिजनेस का रूप ले लिया है उसमें बच्चों का मानसिक शारीरिक एवं सांस्कृतिक संस्कार खत्म होते जा रहे हैंै। आजकल के सभी प्राइवेट स्कूलों में बच्चों को रटाकर बच्चों को सीखा तो दिया जा रहा है। लेकिन उनके संस्कार खत्म होते जा रहे हैं। उन्होंने शिक्षा को एक व्यवसाय बना रखा है तभी सभी ग्राम वासियों ने मिलकर यह तय किया कि हम सब मिलकर हमारे बच्चों को सरकारी स्कूल में पढ़ेंगे।
 वह बच्चों को अलग से कुछ सीखने के लिए अलग टीचर की व्यवस्था भी ग्रामीणी करेंगे ग्रामीणों की इस पर से लगभग समाज का आर्थिक लाभ तो होगा ही वह बच्चों के संस्कार भी मिलेंगे ग्रामीणों ने यह भी तय किया  इस सत्र में इस स्कूल में 200 बच्चो का नामांकन करेंगे। स्कूल को पूरे सीकर जिले में एक मॉडल स्कूल की तरह पेश करेंगे जिसमें और भी लोगों को प्रेरणा मिले  मैं सरकारी स्कूल में बच्चों को हर गतिविधि से प्रेरित करवाया जाएगा। बाहर के शहरों में मिलने वाली जैसी सुविधाएं भी सरकारी स्कूल में दी जाएंगी ग्राम के भामाशाह ने भी इस विद्यालय में अच्छा सहयोग करने की घोषणा की है। 
जिसमे अब तीन शिक्षक गणित व एक अंग्रेजी विज्ञान का का शिक्षक लगेगा। जिसमें ग्रामीणों की मदद से शिक्षको को सहयोग राशि दी जाएगी इस बैठक में सरपंच प्रतिनिधि छाजूराम यादव ग्यारसीलाल नंबरदार दानाराम यादव रतनलाल यादव रामस्वरूप राधेश्याम यादव सरजीत यादव सहित अनेक लोग मौजूद रहे।