Our Co. Partner- SMP School Kairwali, BulBul E Recharge

Headlines

नीमकाथाना: दो घंटे चली बैठक में जल योजनाओं के कार्मिकों की आठ मांगों पर बनी सहमति

पीएचईडी तकनीकी कार्मिकों ने दिया था 11 सूत्रीय मांग पत्र, अधिकारियों ने आठ मांगों के समाधान का भरोसा दिलाया, एक्सईएन ऑफिस में हुई बैठक, पांच उपखंडों के अधिकारी हुए शामिल

नीमकाथाना- पीएचईडी नीमकाथाना खंड की जलयोजनाओं व कार्मिकों की समस्याओं पर शनिवार को एक्सईएन कार्यालय में खंड स्तरीय अधिकारियों की बैठक हुई। राजस्थान पीएचईडी तकनीकी कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने 11 सूत्रीय मांग पत्र रखा।

जलयोजनाओं एवं कार्मिकों की समस्याओं पर उपखंडवार चर्चा हुई। कर्मचारी संघ ने अधिकारियों पर कार्मिकों का शोषण करने, जलयोजनाओं पर सुधार के लिए सामान नहीं देने सहित कई आरोप लगाए थे। जनस्वास्थ्य अभियांत्रिक विभाग के अधीक्षण अभियंता को 11 सूत्रीय मांग का ज्ञापन दिया था।

एक्सईएन मदनलाल मीणा ने उपखंडों के एईएन व जेईएन से समस्याओं पर बिंदुवार चर्चा की। करीब दो घंटे चली बैठक में अधिकारियों व कर्मचारी संगठन के बीच आठ मांगों के समाधान पर सहमति बनी।

बैठक में नीमकाथाना, रींगस, श्रीमाधोपुर, खंडेला, अजीतगढ़ के अधिकारी व कर्मचारी नेता शामिल हुए। जलयोजनाओं व कार्मिकों के हितों पर जिलाध्यक्ष भागीरथमल गोरा, सुशील कुमार सीकर, सुरेन्द्र सिंह महरोली रींगस, राजेश यादव उपखंड अध्यक्ष नीमकाथाना, विजय सिंह आदि शामिल हुए।

इन मांगों पर बनी सहमति 

जलयोजनाओं व कार्मिकों की समस्याओं पर हुई खंड स्तरीय अधिकारियों की बैठक में आठ मांगों के समाधान का भरोसा दिलाया गया। खंड नीमकाथाना अध्यक्ष छोटूराम सैनी ने कहा कि एक्सईएन मदनलाल सैनी ने मांग पर समाधान कराने का भरोसा दिलाया है।

  1. कार्मिकों को साप्ताहिक रेस्ट दिया जाएगा।
  2. कार्मिकों को अतिरिक्त ड्यूटी का भार कम किया जाएगा।
  3. कर्मचारी आवासों की मरम्मत व चार दीवारी निर्माण कराया जाएगा।
     
  4. कर्मचारियों के जीपीएफ, एसआई व व्यक्तिगत फाइल समय पर पूरी कराई जाएगी।
  5. एसआर/जीएलआर की सफाई प्रतिवर्ष समय पर होगी। इससे दूषित पानी की समस्या नहीं रहेगी .
  6. कार्मिकों को यात्रा भत्ता व मेडिकल बिलों को समय पर ऑनलाइन करवाकर समय पर भुगतान दिलाया जाएगा।
  7. जलयोजनाओं पर जरूरत का सामान समय पर उपलब्ध कराया जाएगा। इससे कार्मिकों को लोगों का आक्रोश नहीं झेलना पड़े।
  8. जल योजनाओं पर लीकेजचौकेज का कार्य संबंधित ठेकेदार व फर्म से कराया जाएगा। अतिआवश्यक होने से जॉबकार्ड के जरिए कार्मिकों से कराया जाएगा। 

No comments