विज्ञापन...

क्या आप जानते है कि घड़ी विज्ञापनों में 10 बजकर दस मिनट का समय ही क्यों होता है ? नहीं ना तो अब जानिए...

Post By- Neha

रोचक जानकारी- आपने अपने जीवन में ऐसी कई चीजों का सामना किया होगा जो कि अन्य से काफी अलग होती हैं। कई बार आपके मन में सवाल भी आये होंगे कि आखिर ऐसा क्यू होता है। आज इस पोस्ट में जानिये ऐसी ही 5 रोचक जानकारी जो आपको हैरान कर देंगी।

➀  घड़ी विज्ञापनों में 10 बजकर दस मिनट का समय


Image result for घड़ी विज्ञापनों में 10 बजकर दस मिनट

 यदि आपने कभी गौर किया होगा तो आप देखेंगे कि जब भी कभी घड़ी का विज्ञापन आता है तब घड़ी का समय 10 बजकर 10 मिनट ही दिखाया जाता है। इसके पीछे का कारण यह है कि घड़ी के बीच में निर्माता का नाम छपा होता है तथा 10:10 का समय एक हँसता हुआ काल्पनिक चेहरा बनाता है। इसमें विज्ञापनकर्ताओं का मत है कि 10:10 के समय में लोगों को घड़ी निर्माता हँसता हुआ दिखाई देता है।

 जींस पेंट में छोटी जेब होने का कारण

Image result for जींस पेंट में छोटी जेब

आप जींस पेंट पहनते होंगे या कभी आपने जींस पेंट देखी होगी तो आपने ये ध्यान अवश्य दिया होगा कि पेंट में जेब के ऊपर एक छोटी सी जेब होती है जो अमूमन दायीं तरफ (या दोनों तरफ) होती है। इसका कोई काम नही होता फिर भी यह प्रत्येक जींस में लगाई जाती है।

कुछ लोग इसे फैशन का कारण मानते हैं लेकिन ऐसा नही है वास्तव में यह जेब घड़ी डालने के लिए बनाई गई है। क्योंकि जब जींस बनी थी तब हाथ पर बाँधने वाली घड़ी को जेब में डालने का प्रचलन था इसीलिए घड़ी के लिए एक विशेष जेब का प्रबंध किया गया जो आज भी जारी हैं हालाँकि अब इसका इस्तेमाल नही होता क्योंकि घड़ियों का स्थान मोबाइल ने ले लिया है।

पुरुष महिला की शर्ट (कमीज) में अंतर

Related image

पुरुषों तथा महिलाओं के लिए बनाई गई शर्ट लगभग एक जैसी होती है एक नज़र में इनमें किसी भी प्रकार का अंतर समझ पाना असंभव प्रतीत होता है लेकिन ऐसा नही है। यदि आप गौर से देखेंगे तो पाएंगे कि पुरुषों की शर्ट के बटन दायीं तरफ होते हैं जबकि महिलाओं की शर्ट के बटन बायीं तरफ होते हैं।

इसके पीछे कोई विशेष वैज्ञानिक तथ्य नही है परन्तु माना जाता है कि इसका कारण है महिलाओं को नौकरानियों द्वारा तैयार करने की परम्परा जो प्राचीन समय में प्रचलित थी जिसमें दासियों के हाथ की तरफ से बटन सीधे पड़ते थे जबकि पुरुष स्वयं तैयार होते थे तथा स्वयं अपने बटन बंद करते थे। हालाँकि इस प्रकार के बहुत से कारण प्रचलित हैं परन्तु वास्तव में यह सिर्फ एक पहचान देने के लिए किया गया अंतर माना जाता है।

➃  लेफ्ट-राईट हैंडेड लोगों से सबंधित कुछ तथ्य: 

Image result for लेफ्ट-राईट हैंडेड

सिर्फ मनुष्य ही नही बल्कि कुत्ते और बिल्ली जैसे जानवर भी दायें या बायें हाथ से कार्य करते हैं जैसे: शरीर को खुजलाना। माना जाता है कि दायें हाथ से काम करने वाले व्यक्ति बायें हाथ से काम करने वालों की अपेक्षा लगभग 9 साल ज्यादा जीते हैं तथा इस दुनिया में 100 में से 10 व्यक्ति बायें हाथ से कार्य करते हैं।

शोध के अनुसार औसत लेफ्ट हैंडेड लोगों की बुद्धि अधिक तीव्र होती है इसके अतिरिक्त शोध बताते हैं निजी लड़ाई के चलते अधिकतर लेफ्ट हैंडेड लोग उन हथियारों से चोटिल हो जाते हैं जो राईट हैंडेड लोगों के लिए बनाए गए होते हैं।

 हम शाम के मुकाबले सुबह लगभग 1 सेंटी मीटर अधिक लम्बे होते हैं


Image result for human height

हमारा शरीर हड्डियों से बना है जो एक दुसरे के ऊपर टिक्की हुई हैं तथा इसके आलावा ये एक दुसरे के बीच में इतना फ़ासला बनाए रखती हैं ताकि हिलते हुए पहली हड्डी का प्रभाव दूसरी हड्डी पर ना आए।

सारा दिन चलने से व भार उठाने से हड्डियाँ एक दुसरे से सटना शुरू कर देती हैं जो कि एक नगण्य सा अंतर होता है परन्तु सभी हड्डियों को मिलाकर यह अन्तर लगभग 1 सेंटीमीटर के लगभग हो जाता है।

इसीलिए सुबह की अपेक्षा शाम को व्यक्ति की लम्बाई लगभग एक सेंटीमीटर कम हो जाती है। तत्पश्चात रात भर सोने व सुबह अंगडाई लेने से हड्डियाँ पुन: अपनी सामान्य अवस्था में आ जाती हैं।

Images Source- Google Images

जानकारी अच्छी लगी तो फ्रेंड्स के साथ शेयर करना ना भूलें। 

Post a Comment

Cookie Consent
We serve cookies on this site to analyze traffic, remember your preferences, and optimize your experience.
Oops!
It seems there is something wrong with your internet connection. Please connect to the internet and start browsing again.
AdBlock Detected!
We have detected that you are using adblocking plugin in your browser.
The revenue we earn by the advertisements is used to manage this website, we request you to whitelist our website in your adblocking plugin.