👔 Co. Partner- SMP School Kairwali, Bulbul E Recharge Neemkathana

Headlines

ऑनलाइन बिक रहे 10, 50 और 200 रुपए के नए नोट, एक रुपए के सौ नोटों की गड्डी 555 रुपए में

लीगल टेंडर की गैरकानूनी बिक्री, ईबेडॉटइन पर 10 का नोट 16 रु. में, 200 का 260 रु. में बिक रहा

न्यूज़ सर्विस- एटीएम से नकदी का संकट अभी खत्म नहीं हुआ है। बैंक जाने पर भी नए नोट आसानी से नहीं मिलते। लेकिन अब नए नोट खरीदने का डिजिटल विकल्प उपलब्ध है। पुराने नोटों के साथ अब नए नोट भी ऑनलाइन बिक रहे हैं। ये नोट धड़ल्ले से अपनी कीमत से अधिक दामों में बेचे जा रहे हैं।


पूर्ण रूप से अवैध होते हुए भी 1 रुपए, 10 रुपए, 50 रुपए व 200 रुपए के नए नोट ऑनलाइन बिक रहे हैं। ईबेडॉटइन पर 10 रुपए के 100 नोट 1620 रुपए में बेचे जा रहे हैं। 200 रुपए के नए 100 नोट 26,000 रुपए में उपलब्ध हैं। वहीं 1 रुपए के 100 नए नोट के बंडल की ऑनलाइन कीमत 555 रुपए है।

इन्हें अपने घर पर मंगाने के लिए 50 से 100 रुपए के बीच शिपिंग चार्ज अलग से देना होगा। मजेदार बात यह है कि नोट की गारंटी के लिए साइट पर यह भी लिखा हुआ है कि ये नोट आरबीआई के नए गवर्नर उर्जित आर. पटेल के हस्ताक्षर वाले हैं। एक रुपए के नोट के लिए लिखा है कि ये पूर्व वित्त सचिव शक्तिकांत दास के हस्ताक्षर वाले हैं।

आम आदमी को नहीं मिलते नए नोट

10 रुपए, 50 रुपए व 200 रुपए के नए नोट आम आदमी को फिलहाल नसीब नहीं हैं। अगर घर में शादी ब्याह है तो इन नोटों को हासिल करने के लिए उन्हें अपने बैंककर्मी दोस्तों की सिफारिश करनी पड़ती है।

बैंककर्मियों के मुताबिक 10, 50 व 200 के नए नोट ब्रांच में सीमित मात्रा में भेजे जाते हैं। इनकी सिफारिशी बुकिंग पहले से ही रहती है। इसलिए ये नोट आम जनता को नहीं मिल पाते। एक रुपए के नए नोट की सबसे अधिक मांग है। इसीलिए ये ऑनलाइन 555 रुपए में बिक रहे हैं। ऑनलाइन ऑर्डर करने पर दो से तीन दिनों में घर पर नए नोट की सप्लाई हो जाएगी।

नोट लीगल टेंडर होता है, अधिक कीमत पर बिक्री नहीं कर सकते 

ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एस. एस. सिसोदिया ने बताया कि रुपए लीगल टेंडर हैं। इसकी बिक्री अधिक कीमत पर नहीं की जा सकती है। यह सरासर अपराध है।

उन्होंने बताया कि लीगल टेंडर को आप सरकार की अनुमति के बिना बिक्री तो दूर, उसे नष्ट भी नहीं कर सकते हैं। इस मामले में ईबे कंपनी के अधिकृत प्रवक्ता से कई कोशिश के बावजूद संपर्क नहीं हो सका।

No comments