सीकर/रींगस थाने में जैतूसर निवासी ने नाबालिग पुत्री के साथ हुई ज्यादती के मामले में दो अज्ञात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमा दर्ज कराया कि उसकी 15 वर्षीय बेटी रेल लाइनों के पास बकरी चराने के लिए जाती थी।

रेल लाइनों पर रेलवे का कार्य चल रहा है। वहां कार्य करवा रही कंपनी के ठेकेदार के कर्मचारी से उसकी जान पहचान हो गई।

वह नौ अप्रैल को उसकी बेटी को बहला फुसलाकर बाइक पर बैठाकर रींगस रेलवे स्टेशन ले गया तथा वहां से आरोपी व उसका साथी छात्रा को रेलगाड़ी में बैठाकर निजामपुर ले गए।

वहां दोनों ने उसके साथ ज्यादती की। इसके बाद उसे निजामपुरा रेलवे स्टेशन पर छोड़ गए। रेलवे स्टेशन पर नाबालिग को देखकर रेलवे पुलिस ने उससे पूछताछ की। बाद में रींगस पुलिस को सूचना दी।

रींगस पुलिस ने परिजनों को बुलाकर परिजनों की बेटी से बात करवाई। बात होने के बाद परिजन उसे घर लेकर आए।

महिला चिकित्सक के अभाव में नहीं हो पाया मेडिकल 

पुलिस पीड़िता को मेडिकल के लिए राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य में लेकर गई, लेकिन वहां महिला चिकित्सक नहीं होने व शाम होने के कारण मेडिकल नहीं हो सका।

छात्रा का मेडिकल 11 अप्रैल को कराया जाएगा। पुलिस उपअधीक्षक मनस्वी चौधरी ने बताया कि छात्रा के पिता की ओर से रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

छात्रा को आरोपियों केनाम व पते नहीं मिले हैं। आरोपी जिस ठेकेदार के पास काम करते हैं, उससे पूछताछ कर आरोपियों की तलाश की जाएगी।

Join Whatsapp Group

नीमकाथाना न्यूज़

The Group Of Digital Neemkathana




- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।