विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें- +91-9079171692, +91-9680820300

News Update

श्रीनगर एयरपोर्ट से सटे बीएसएफ कैंप पर हमला, 10 घंटे चले ऑपरेशन में तीनों आतंकी ढेर

श्रीनगर एयरपोर्ट के पास चार स्तरीय सुरक्षा घेरा तोड़कर आतंकियों ने बीएसएफ की 182वीं बटालियन के कैम्प पर मंगलवार तड़के साढ़े चार बजे आत्मघाती हमला कर दिया। करीब 10 घंटे की मुठभेड़ के बाद जवानों ने तीनों आतंकी मार गिराए। घटना में एएसआई बीके यादव शहीद हो गए, जबकि चार जवान घायल हैं।

श्रीनगर एयरपोर्ट से सटे बीएसएफ कैंप पर हमला, 10 चले ऑपरेशन में तीनों आतंकी ढेर
source-google
हमले की जिम्मेदारी पाक के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है। एयरपोर्ट के एकदम नजदीक 30 साल में पहली बार आतंकी हमला हुआ है। कैंप और एयरपोर्ट की दीवार एक ही है। पुलिस ने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद ने नूरा त्राली नाम से आत्मघाती दस्ता जम्मू भेजा था।

खुफिया सूचना के आधार पर इसके नेटवर्क की पहचान कर ली गई थी, पर आगे कोई जानकारी नहीं मिल सकी थी। सेना की ड्रेस पहने आतंकी टूटी हुई दीवार के रास्ते चारों ओर फायरिंग करते और ग्रेनेड फेंकते हुए कैंप में दाखिल हुए। जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी मारा गया।

दो आतंकी अंधेरे का फायदा उठाकर कैंप में घुस गए और अलग- अलग इमारत में छिपकर गोलीबारी करने लगे। जवानों ने दूसरे आतंकी को भी मार गिराया, लेकिन एडमिन ब्लॉक में छिपे तीसरे आतंकी को मारने में कुछ वक्त लग गया।

सेना की ड्रेस में जैश के आतंकी फायरिंग और ग्रेनेड फेंकते हुए कैंप में घुसे 

मले की तुलना पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले से की जा रही है। उस हमले में 7 जवान शहीद हुए थे, सभी 6 आतंकी मारे गए थे। हमला तड़के साढ़े तीन बजे हुआ था। आतंकी सेना की ड्रेस में थे। श्रीनगर में जिस हिस्से में हमला हुआ वहां बीएसएफ व सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर्स हैं। आतंकी एयरपोर्ट के रेजिडेंशियल एरिया में घुस गए। यहां कई बड़े अफसर रहते हैं। कैंप हमेशा से पाक आतंकियों के निशाने पर रहा है।