Digital Neemkathana Android App Comming Soon...

News Update

'भाजपा भारत छोड़ो' का नारा लगाते हुए ममता बनर्जी ने शुरू किया आंदोलन

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी इन दिनों अपना पूरा जोर भाजपा के पीछे लगाया हुआ है। अब तो उन्होंने भाजपा भारत छोड़ो का नारा लगाते हुए आंदोलन भी शुरू कर दिया है। भाजपा पर अपना हमला तेज करते हुए ममता ने शुक्रवार को कहा कि सभी मोर्चों पर विफलता के लिये भाजपा को भारत से बाहर किया जाना चाहिये और साथ ही साथ जो दल भगवा के खिलाफ है उनसे समर्थन की भी मांग की। बनर्जी ने घोषणा की कि उनकी पार्टी 9 से 30 अगस्त के बीच ‘भाजपा को भारत से बाहर करने’ के लिये कार्यक्रम आयोजित करेगी। और भाजपा को हमेशा हमेशा के लिए भारत से बहार कर देंगी।
'भाजपा भारत छोड़ो'
                                                    source- google images

उन्होंने यहां एक विशाल रैली में कहा, 'हम भारत से भाजपा को बाहर करेंगे' यह हमारी चुनौती है। केंद्र सारदा, नारदा जैसे मामलों से हमें धमकाने का प्रयास कर रहा है। लेकिन हम भी इससे डरने वाले नहीं हैं. हममें से कोई दोषी नहीं है. हम अपना सिर कभी नहीं झुकने देंगे।' उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस पार्टी नेताओं को ‘प्रताड़ित करने और उनको बदनाम’करने के लिये सीबीआई के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज करवाएगी ।

टीएमसी 21 जुलाई को ‘शहीद दिवस’ मनाती है 

तृणमूल कांग्रेस हर साल 21 जुलाई को ‘शहीद दिवस’ मनाती है। 1993 में कोलकाता में पुलिस की गोलीबारी में युवा कांग्रेस के 13 कार्यकर्ता मारे गए थे। बनर्जी तब पश्चिम बंगाल युवा कांग्रेस की नेता थीं। उन्होंने केंद्र सरकार पर राज्य को स्वतंत्र तरीके से काम करने की अनुमति नहीं देने और उनके मामलों में हस्तक्षेप का आरोप भी लगाया।

उन्होंने श्रोताओं की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच कहा, ‘वे राज्य सरकारों को स्वतंत्र तरीके से काम करने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। अगर वे निर्वाचित सरकार हैं, हम भी निर्वाचित सरकार हैं। हम किसी के सेवक नहीं हैं.’बनर्जी ने कहा कि 18 विपक्षी दल साथ आए और हाल में संपन्न हुए राष्ट्रपति चुनाव में मीरा कुमार की संयुक्त उम्मीदवारी का समर्थन किया।

भाजपा को के खिलाफ भविष्य में आंदोलन का विस्तार करेंगी ममता। 

ममता ने कहा, 'यह मंच भविष्य में विस्तृत हो गया है और हम उपराष्ट्रपति चुनाव में भी साथ मिलकर लड़ रहे हैं।  यह तो बस एक शुरूआत है।  भाजपा के खिलाफ भविष्य में इस मंच का विस्तार होगा। भाजपा सोचती है कि 2019 का लोकसभा चुनाव उसके लिये आसान होगा। भाजपा से लड़ने वालों को अपनी पार्टी के समर्थन का इजहार करते हुए उन्होंने कहा, 'बंगाल के साथ सोनिया गांधी, नीतीश कुमार, लालू प्रसाद, अरविंद केजरीवाल और जो भी भाजपा का विरोध करने वाले खड़े हैं। ' 

No comments