महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप में इंग्लैंड ने भारत को नौ रनों से हराते हुए रविवार को आईसीसी महिला विश्व कप का खिताब अपने नाम कर लिया है। इंग्लैंड ने भारत के सामने 229 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे भारतीय टीम हासिल नहीं कर पाई और 48.4 ओवरों में 219 रन पर अपने सभी विकेट गंवा बैठी। इस तरह उसके हाथ से पहली बार विश्व विजेता बनने दूसरा मौका चला गया।
 महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप
                                                     source- google images

भारतीय महिला टीम एक समय तक इस लक्ष्य को हासिल करती दिख रही थी। लेकिन अंत में इंग्लैंड ने लगातार विकेट लेते हुए उसे ऐतिहासिक जीत से महरूम रखा और भारत के हाथ से जीता-जीताया मैच छीन लिया। भारत के लिए सलामी बल्लेबाज पूनम राउत ने सार्वधिक 86 रन बनाए जबकि सेमीफाइनल में शताकीय पारी खेलने वाली हरमनप्रीत कौर ने 51 रनों का योगदान दिया। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 95 रनों की साझेदारी की। अंत में वेदा कृष्णामूर्ति ने 35 रनों का पारी खेलते हुए टीम को जीत दिलाने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो पाईं। इंग्लैंड की तरफ से अन्या श्रूबसोले ने 6 विकेट लिए। एलेक्स हार्टले ने दो सफलताएं हासिल कीं।

कुछ ऐसी पारी 

इंग्लैंड की तरफ से नैटली स्कीवर (51) ने अर्धशतक जमाया। वहीं सारा टेलर ने 45 रनों की पारी खेली।

भारतीय गेंदबाज़ों के सामने इंग्लैंड ने सधी हुई शुरुआत की। इंग्लैड का पहला विकेट 47 रन पर गिरा।
इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने मैच पर पकड़ बनाते हुए इंग्लैंड के दो और विकेट जल्दी-जल्दी गिरा दिए।
स्कीवर और टेलर के बीच चौथे विकेट के लिए 83 रनों की साझेदारी हुई।

भारत की तरफ से तेज गेंदबाजी झूलन गोस्वामी ने 3 जबकि पूनम यादव ने 2 विकेट झटके. राजेश्वरी गायकवाड़ को एक सफलता प्राप्त हुई।