केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों से बढ़ती महंगाई को लेकर कांग्रेसजनों ने रैली निकाल ज्ञापन सौंपा

Jkpublisher
0
नीमकाथाना। केन्द्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण बढ़ती हुई मंहगाई व पैट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर रोक लगाने के लिए  नीमकाथाना व पाटन ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने रैली निकाल विरोध प्रदर्शन किया। कार्यकार्ताओं ने ऊट-गाड़ी पर मोटर साइकिल रखकर, चूल्हा-चौका रखकर विरोध प्रदर्शन किया। कोरोना महामारी में करोड़ों लोग रोजगार खो चुके है, वहीं दूसरी ओर मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि कर उपभोक्ताओं की जेब पर डाका डाला है। रसोई गैस पर सब्सिडी बंद कर दी। घरेलू सिलेंडर  के दाम 2014 के मुकाबले दुगुने हो गए है। केन्द्र सरकार कापोरेट घरानों के फायदे के लिए बैक, बीमा, एयरलाइन, रेलवे जैसे महत्वपूर्ण सार्वजनिक क्षेत्रों का निजीकरण कर रही है। विधायक सुरेश मोदी ने कहा कि पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस के दामों में बेहताशा बढ़ोतरी हो रही है, जिससे जनता बहुत ज्यादा परेशान है। इसके खिलाफ उपखण्ड अधिकारी के जरिए राष्ट्रपति तक देने के लिए महंगाई के खिलाफ ज्ञापन सौंपा। राष्ट्रपति अपने विवेक से अपनी शक्तियों का उपयोग करते हुए केन्द्र सरकार को निर्देषित करे कि ये बड़े-बड़े उघोगपियों फायदा देने के लिए जनता को जो परेशानियां दे रहे है, उनको कम कर पैट्रोल-डीजल व रसोई गैस के दामों को कम करे। आम जनता देश में बढ रही महंगाई व केन्द्र सरकार के अदूरदर्शिता पूर्ण निर्णयों का पुरजो शब्दों से विरोध करती है एवं आक्रोश व्यक्त करते हुए आपसे सानुरोध निवेदन है उक्त बातो पर सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए जनहित में उचित व ठोस कदम उठाये जिससे देश की जनता राहत महसूस कर सके। नपा अध्यक्ष सरिता दिवान ने कहा कि देश एक तरफ कोरोना जैसी महामारी से लोगो में बेरोजगारी बढ़ रही है और दूसरी तरफ पैट्रोल-डीजल व रसोई गैस की बढ़ते दामों से लोगो को परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है। इसके लिए आज महंगाई के खिलाफ रैली निकाल कर उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौपा है। केन्द्र सरकार से अपिल है कि बढ़ते पैट्रोल-डीजल व रसोई गैस के दामों को कम करे। इस दौरान सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Post a Comment

0Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
Post a Comment (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !