News Update: राजस्थान इंटेलीजेंस ने सैन्य ठिकानों पर सेना की गतिविधियों की गोपनीय और संवेदनशील सूचना पाकिस्तान खुफिया एजेंसी से साझा करने के मामले में दो जासूसों  को गिरफ्तार किया है।
गिरफ्तार किए गए जासूसों में गंगानगर में कार्यरत सिविल डिफेंसकर्मी ट्रेडमैन विकास तिलोतिया और महाजन फील्ड फॉयरिंग रेंज बीकानेर में कार्यरत संविदाकर्मी चिमललाल नायक है, इन दोनों को बीकानेर से पकड़ा गया है।

ये पाकिस्तानी की खुफिया एजेंसी को सामरिक सूचनाएं दे रहे थे. दोनों को सोमवार को जयपुर लाया गया है. अब इनसे जांच एजेंसियां संयुक्त रूप से पूछताछ करेगी।

पाकिस्तान से चलाई जा रही थी फेसबुक आईडी

एडीजी इंजेलीजेंस उमेश मिश्रा ने बताया कि दोनों ही आरोपियों के खिलाफ पुख्ता सबूत मिलने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है।

 भारतीय सेना, उत्तरप्रदेश एटीएस और राजस्थान पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में इनको पकड़ा गया है. इस ऑपरेशन का नाम 'डेजर्ट चेज' रखा गया था।

 एमआई लखनऊ को जानकारी मिली थी की पाक की ओर से अनुष्का चोपड़ा नाम की फेसबुक आईडी से राजस्थान के दो लोगों से संपर्क किया जा रहा है।. यह फेसबुक आईडी पाकिस्तान से चलाई जा रही है।

महत्वपूर्ण जानकारियां लीक कर रहे थे

एमआई लखनऊ को जानकारी मिली थी की फेसबुक से कनेक्ट होने वाला विकास कुमार आर्मी की जानकारी लीक कर रहा है।

 इसमें विकास कुमार ORBIT यानि की ऑर्डर ऑफ बैटल, कंपोजिशन एंड ऑर्डर ऑफ मिलिट्री फाइटिंग फॉर्मेशन, गोला-बारूद की फोटो, राज्य, मात्रा, प्रकार, आगमन और प्रस्थान से संबंधित सैन्य अभ्यास की जानकारी दे रहा था।

इसकी एवज में विकास और उसके भाई के खाते मे तीन बार पैसा भी आया है। मई 2020 में एमआई लखनऊ ने यह मामला राजस्थान इंटेलिजेंस के साथ साझा किया. उसके बाद दोनों टीमों ने बीकानेर से मिल रहे साक्ष्यों पर काम किया,बाद में पुख्ता सबूत एकत्रित कर दोनों  को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार विकास कुमार 29 साल का है और उसके पिता आर्मी से ही रिटायर्ड हैं।

चिमनलाल मूलतया बीकानेर जिले का रहने वाला है, दोनों के खिलाफ इंटेलीजेस टीम को सबूत के तौर पर ऑडियो रिकॉर्डिंग तक मिली है।

- ऐसी ही अपने क्षेत्र की ताजा ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए डाउनलोड करें Digital Neemkathana App गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध।