परिजनों का रो रो कर बुरा हाल
लोगों ने उचित मुआवजे की मांग की
नीमकाथाना@ कुवैत से तिवाड़ी का बास गांव में पहुंचा मृतक नवीन कुमार का शव 34 दिन बाद पहुंचा। जिससे गांव में शोक की लहर दौड़ गई। जानकारी के अनुसार 19 अप्रैल को कुवैत एयरपोर्ट पर लिमार्क कंपनी में कार्यरत तिवाडी का बास के युवक नवीन कुमार शर्मा की मशीन के  टायर के नीचे आने से मौत हो गई थी।आज दिल्ली एयरपोर्ट से शव को लेने पहुंचे मृतक के चाचा संतोष शर्मा और पवन कुमार शर्मा को सुबह 11:00 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर शव दिया गया। मृतक का अंतिम संस्कार गांव तिवाडी का बास में हुआ। जिसमें परिवार व गांव सहित नीमकाथाना ब्राह्मण समाज के लोग भी मौजूद रहे।
वहीं मृतक के माता पिता को शव लाने का बाद सूचना लगी जिससे उनका रो रोकर बुरा हाल हो गया। परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर है नवीन के बाद अब परिवार में पिता बजरंग लाल शर्मा माता निर्मला शर्मा व बड़ा भाई दिनेश कुमार शर्मा है। ऑन ड्यूटी होने के बावजूद भी नवीन के परिवार को कोई मुआवजा नहीं दिया गया है। जिस प्रकार से पिछले 34 दिन से मृतक नवीन कुमार शर्मा की पार्थिव देह को कुवैत से मंगाने के लिए संघर्ष जारी था उसी प्रकार मृतक के परिवार को मुआवजा दिलाने के लिए संघर्ष जारी रहेगा। खांडल विप्र विश्व परिषद के राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष योगेश शर्मा व परिजनों ने राज्य व केंद्र सरकार से अपील है इस मामले में संज्ञान लेकर परिवार को उचित मुआवजा दिलवाने की मांग की।