नीमकाथाना@नागौर एवं जोधपुर मे हुई मानवता को शर्मसार करने वाली घटनाओ को लेकर एवं केंद्र सरकार द्वारा लगातार संविधान की मूल भावना को तोड़ने का प्रयास किया है इसके विरोध में 23 तारीख भारत बंद के समर्थन में नीमकाथाना में रैली निकालकर ज्ञापन दिया गया।
रैली में शामिल होने वाले सर्वसमाज  के लोगों ने संविधान के साथ लगातार हो रही छेड़छाड़ का विरोध किया। आरक्षण के साथ समस्त सामाजिक संगठनों ने अपील की कि केंद्र सरकार होश में आओ और इस गैर संवैधानिक काले कानून को वापस ले और पदोन्नति में आरक्षण के साथ छेड़छाड़ ना की जाए। साथ ही राजस्थान सरकार को अवगत करवाया कि राजस्थान सरकार एनपीआर पर स्टैंड ले और अपनी स्थिति साफ करें ,इसके साथ ही राजस्थान में लगातार हो रही दलित अत्याचार की घटनाओं का विरोध करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को संज्ञान लेने की अपील की ।इस दौरान विभिन्न सामाजिक संगठनों  के लोग एवं बसपा नेता राजेश मीणा, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कपिलदेव, उमेश मुंडोतिया, अमिताभ ज़िलोवा, शुभम चोपडा गांवड़ी, विकास गांवड़ी, श्योदान वर्मा, रोहिताश वर्मा, आशु अंबेडकर, ज़ितेंन महावा, गगन वर्मा आदि सेकड़ो लोग मौजूद रहे।