Update Your App Now

News Update

जागरूकता शिविर में चुप्पी तोड़ों खुलकर बात करों का विमोचन किया

नीमकाथाना-बाल विकास परियोजना द्वारा मंगलवार को सीताराम मोदी संस्कृत महाविद्यालय में महिलाओं व किशोरियों के लिए जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि प्राचार्य महेश कल्याण और व्याख्याता कौशल शर्मा रहे। अध्यक्षता सीडीपीओ संजय चेतानी ने की। महिला पर्यवेक्षक अरुणा राजपूत व विमला वर्मा ने उपस्थित महिलाओं को माहवारी स्वच्छता प्रबन्धन पर जानकारी देते हुए आह्वान किया कि समाज में महिलाऐं और किशोरियाँ अपनी चुप्पी तोड़कर खुलकर अपनी बात कहें। सीडीपीओ संजय चेतानी ने बताया कि राष्ट्रीय पोषण मिशन का उद्देश्य वर्ष 2022 तक भारत को कुपोषण से मुक्त करना है।
उन्होने कहा कि कुपोषण एक बहुत जटिल मुद्दा है। जिसमें निर्धनता के कारण अपर्याप्त भोजन मिलने के साथ-साथ माता और शिशु की सही देखभाल नहीं होना है, स्वच्छता का अभाव और स्वास्थ्य सुविधाओं तक समुदाय की आसान पहुँच नहीं होना भी कुपोषण का कारण बनता है। विशिष्ट अतिथियों ने स्वच्छता और सही खान पान की आदतों के प्रति समझाया। कार्यक्रम के अन्त में उपस्थित अतिथियों ने किशोरियों हेतु माहवारी स्वच्छता पर जानकारी हेतु पुस्तिका चुप्पी तोड़ों खुलकर बात करो का विमोचन किया। इस दौरान ब्लाॅक काॅर्डिनेटर अंशुल श्रीवास्तव, लिपिक सुनिल यादव, निधि पुरोहित, नीलम बंगाली सहित आदि लोग मौजूद रहे।

header ads