... ...

Headlines

उपचुनाव: राजस्थान में आखिर सच हुआ नारा, "मोदी तुझसे बैर नहीं, वसुंधरा थारी खैर नहीं"

राजस्थान की अलवर, अजमेर लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव के मतों की गणना अब खत्म हो गई है। प्रदेश की दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर हुई मतगणना में कांग्रेस ने बीजेपी को बड़े अंतर से मात दी है।

अलवर में कांग्रेस के करण सिंह यादव भाजपा के जसवंत सिंह यादव से लगभग 40 ,000 मतों से बीजेपी प्रत्याशी को मात दी। अजमेर में कांग्रेस के रघु शर्मा भाजपा के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी राम स्वरूप लांबा को लगभग 20,648 को मतों से मात दी है।  इन चुनावों को बीजेपी की बड़ी हार के तौर पर देखा जा रहा हैै, क्योंकि इसी साल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों स पहले हुए इन उपचुनावों को सेमीफाइनल कहा जा रहा था।

राजस्थान में चुनाव से पहले चल रहा था नारा- "मोदी तुझसे बैर नहीं, वसुंधरा थारी खैर नहीं"

राजस्थान में वसुंधरा राजे से हिन्दुओ के कई समूह अत्यंत नाराज है, हम ऐसा नहीं कह रहे की वो कांग्रेस को वोट दे देंगे, वो भी शांत बैठ जायेंगे, वोट देने निकलेंगे ही नहीं, ऐसी सूरत में राजस्थान में बीजेपी का खात्मा भी तय है।

आनदपाल, पद्मावत जैसे बड़े मुद्दों पर वसुंधरा सरकार बैकफूट आगई है। वैसे राजस्थान एक ऐसा राज्य है जहाँ सत्ता विरोधी लहर बहुत होती है, हर 5 साल में इस राज्य में सरकार बदलने का रिवाज है। लेकिन इस वर्ष मोदी लहर ने इस नियम को तोड़ने जारही थी लोग मोदी की बीजेपी सरकार को सत्ता में लाने  बना चुके थे। वसुंधरा इस पर पानी फेर रही है।

वसुंधरा ने राजस्थान के लोगों को काफी नाराज किया है। अगर राजस्थान में  CM का चेहरा नहीं बदला गया तो बीजेपी की ये सबसे बड़ी चूक होगी। लोगों का कहना है कि इस बार यदि वसुंधरा हारती है तो ये मोदी की हार नहीं वसुंधरा की निजी हार होगी।

बीजेपी ने ओढ़ा सेकुलरिस्म का चोगा जिससे हिन्दू समाज नाराज 

अपने वोटर से गद्दारी का बीजेपी को मिला फल, राजस्थान में सूपड़ा साफ़, अलवर अजमेर दोनों हारे अपने वोटर से गद्दारी का बीजेपी को मिला फल, राजस्थान में सूपड़ा साफ़, अलवर अजमेर दोनों हारे।

बीजेपी के नेता बहुत बड़ी ग़लतफ़हमी में चलते है, इनको मुस्लिम वोट मिलेगा, मुस्लिम वोट तो मिलने से रहा हिन्दू वोटर भी हुए नाराज।

राजस्थान में 200 विधानसभा की सीट है, और आज के प्रदर्शन को हर जगह लागू किया जाये तो 200 सीटों में से बीजेपी 50 सीट पर सिमट रही है जबकि बीजेपी के पास 162 सीट थी, वहीँ कांग्रेस 200 में से 140 से ज्यादा सीट प्राप्त कर रही है, बीजेपी नेताओं के सेकुलरिज्म के कारण, और इस सिंधिया खानदान की महारानी के कारण हिन्दू एकता तार तार हो रही है।

 - सचिन पत्रकार...
Contect On Facebook

No comments