राजकीय जिला चिकित्सालय में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्थाएं, मरीज परेशान, परिजनों ने करवाई शिकायत दर्ज




नीमकाथाना। राजकीय कपिल जिला चिकित्सालय में उल्टी, दस्त जैसी मौसमी बीमारियों से पीड़ित भर्ती मरीजों का बुरा हाल है। कहने को तो कपिल अस्पताल को राजकीय जिला अस्पताल का दर्जा है लेकिन अस्पताल में कार्यरत नर्सिंग स्टाफ की कार्यशैली को देखते हुए अस्पताल की व्यवस्थाएं बदहाल हालत में हैं। गुरुवार को कपिल अस्पताल के वार्ड में भर्ती मरीजों ने बताया कि अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ मरीजों की कोई देखभाल नहीं कर रहा है, सूचना के बाद भी नर्सिंग स्टाफ मरीजों को अटेंड नहीं कर रहा है।
परिजनों ने करवाई शिकायत दर्ज
पूर्व शिवसेना जिला प्रमुख नरेंद्र सिंह मोगा ने जानकारी देते हुए बताया गुरुवार को अस्पताल की बदहाल व्यवस्थाओं को देखकर मरीज काफी परेशान है। वार्ड में भर्ती मरीज जब नर्सिंग स्टाफ को मरीजों को देखने के लिए कहते हैं तो नर्सिंग स्टाफ मरीजों का ध्यान नहीं दे रहे हैं। गुरुवार को सुबह एक बार मरीजों को दवा देने के बाद शाम को 6 बजे तक कोई भी नर्सिंग स्टाफ मरीजों को देखने के लिए नहीं आए तो 181 पर फोन कर अस्पताल में बदहाल व्यवस्था को लेकर शिकायत दर्ज करवाई साथ ही उपखंड अधिकारी बृजेश गुप्ता को शिकायत दर्ज करवाई। अस्पताल नर्सिंग स्टाफ , डॉक्टर मरीजों को नहीं देख रहे हैं। मौसमी बीमारियों से पीड़ित मरीज गर्मी में काफी परेशानी का सामना कर रहे हैं । जिस पर उपखंड अधिकारी ने तत्काल कार्यवाही करते हुए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कार्यवाही के लिए निर्देशित किया जिस पर शाम 4  बजे मरीजों का ध्यान करने वाले नर्सिंग स्टाफ शाम 6 बजे मरीजों को चेक करने के लिए वार्ड में पहुंचे। वार्ड में भर्ती मरीजों के परिजनों ने बताया कि बार-बार कहने के बाद भी अस्पताल का स्टॉप भर्ती मरीजों का ध्यान नहीं करते हैं। अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति काफी खराब है वार्ड में ना तो साफ सफाई है और ना ही नर्सिंग स्टाफ मरीजों का ध्यान देता है।
Previous Post Next Post