... ...

Headlines

पीएस जाट बने कांग्रेस जिलाध्यक्ष, पहले नारायणसिंह के बेटे का नाम चल रहा था...

अजमेर डिस्कॉम एमडी रहे हैं जाट, सांसद का चुनाव हारे थे 

सीकर- कांग्रेस ने शनिवार रात आठ जिलों के जिलाध्यक्ष बदल दिए। सीकर में पीएस जाट को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। जाट अजमेर डिस्कॉम के एमडी रहे हैं। सांसद का चुनाव लड़ा था, लेकिन ढाई लाख वोटों से हार गए थे। लक्ष्मणगढ़ विधायक गोविंद सिंह डोटासरा का कार्यकाल सात साल का हो गया था। इसलिए लंबे समय से कवायद चल रही थी कि जिलाध्यक्ष बदला जाए।



पीएस जाट ने मीडिया से बातचीत में कहा कि विधानसभा चुनाव में सभी सीटों पर जीत प्रमुख लक्ष्य रहेगा। पलथाना के रहने वाले जाट सरकारी सेवा से सीधे पॉलिटिक्स में आए थे और सांसद का चुनाव लड़ा था।

ताकत : अभी किसी भी स्तर पर कोई आरोप-प्रत्यारोप नहीं है। इसलिए जिलाध्यक्ष के नाम के लिए किसी ने कोई आपत्ति भी नहीं जताई।

बड़ी चुनौती : पार्टी में सरकारी सेवा से सीधे आए। इससे पहले बड़ेपद पर भी नहीं रहे। इसलिए संगठन में कार्यकर्ताओं तक जुड़ाव नहीं है। विधानसभा चुनाव नजदीक भी है। इसलिए सभी को एकजुट करने के लिए ज्यादा भागदौड़ करनी होगी।

जिलाध्यक्ष के लिए पहले विधायक नारायणसिंह के बेटे पूर्व प्रधान वीरेंद्रसिंह का नाम चल रहा था, लेकिन पार्टी में चर्चा थी कि जिलाध्यक्ष उसे ही बनाया जाएगा, जो विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेगा।

जबकि नारायणसिंह अपने बेटे को चुनाव लड़वा सकते हैं। चर्चा है कि इसी कवायद में पीएस जाट को कांग्रेस जिलाध्यक्ष बनाया गया। पीएस जाट के सामने सबसे बड़ी चुनौती पार्टी में चल रही गुटबाजी को कम करना भी है। क्योंकि-पिछले दिनों पार्टी के बड़े कार्यक्रमों में पदाधिकारी एक साथ नजर नहीं आए हैं।


source- dainik bhaskar

No comments