Headlines

तीसरे दिन भी टंकी पर ग्रामीणों का कब्जा, 1800 घरों में नहीं आया पानी

पुनर्गठित शहरी पेयजल योजना का पानी देने की मांग पर अड़े रहे ग्रामीण, अधिकारी बोले- समझाइश करेंगे 

नीमकाथाना- 32 करोड़ की शहरी पेयजल योजना में बनी गोडावास टंकी से पानी सप्लाई का मामला तीसरे रोज भी ठप रहा। इसके चलते करीब 18 सौ घरों में पानी नहीं पहुंच सका। रेलवे लाइन से पश्चिम दिशा के वार्ड व कॉलोनियों में विरोध के कारण पानी सप्लाई बंद है।


गोडावास टंकी पर ग्रामीणों का कब्जा रहा। ग्रामीणों की चेतावनी के चलते पीएचईडी अधिकारी व कार्मिक टंकी पर नहीं गए। उधर ग्रामीण गोडावास टंकी से ही पानी देने की मांग पर अड़े हैं। उनका टंकी पर कब्जा जारी रहा।

सरपंच सहित कई लोग पानी देने की मांग पर पीएचईडी एक्सईएन मदनलाल मीणा से मिले। उनकी मांग थी कि गांव में टंकी बनी है तो पानी पर पहला हक भी उनका है। ग्रामीणों ने किसी भी सूरत में टंकी से पानी नहीं होने देने की चेतावनी दी है।

पानी सप्लाई ठप होने से रेलवे लाइन के पश्चिम की कॉलोनियों के लोग खासे परेशान हैं। सप्लाई ठप रहने के बाद वैकल्पिक रूप से पानी का कोई प्रबंध नहीं है। ऐसे में लोगों को निजी टैंकरों से पानी खरीदना पड़ रहा है।

एईएन सत्यवीर यादव ने कहा कि पूरे मामले में रिपोर्ट विभागीय अधिकारियों को सौंपी गई है। कलेक्टर को भी जानकारी दी गई है। विभागीय स्तर पर टंकी पर कब्जा करने व सप्लाई ठप करने के मामले में कार्रवाई कराई जाएगी।

जलदाय विभाग के एक्सईएन मदनलाल मीणा ने बताया कि बुधवार को प्रशासन की मदद से ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया जाएगा। योजना में गोडावास गांव को जोड़ना संभव नहीं है। गोडावास के लिए अलग से योजना बनाने का भरोसा दिलाया गया है। इसके बावजूद ग्रामीण जिद्द पर अड़े हैं।

मीणा ने बताया कि एईएन सत्यवीर यादव को मामले में कार्रवाई कराने के निर्देश दिए गए हैं।

No comments